अनामिका शुक्ला की तर्ज पर जौनपुर में भी हुआ फर्जीवाड़ा, जौनपुर-आजमगढ़ के दो विद्यालयों में नौकरी कर रही है प्रीती यादव




जौनपुर । प्रदेश में कोई बड़ा कान्ड हो उसमें  जनपद जौनपुर की भागीदारी न हो ऐसा सायद संभव नहीं होता है। अब कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय में प्रदेश स्तर पर अनामिका शुक्ला प्रकरण चल ही रहा था कि जौनपुर में प्रीती यादव का मामला सामने आ गया है जो एक साथ जौनपुर एवं आजमगढ़ के कस्तूरबा गाँधी बालिका विद्यालय में एक साथ नौकरी करते हुए सरकारी खजाने से बेतन ले रही है। खबर है कि इस पूरे मामले की जानकारी राज्य परियोजना निदेशक के पत्र आने के बाद से फर्जीवाड़े की पोल खुली है। 
हलांकि इस मामले में बीएसए द्वारा थाना कोतवाली में मुकदमा भी दर्ज करा दिया गया है। 
प्रदेश में अनामिका शुक्ला का प्रकरण प्रकाश में आने के पश्चात बीएसए जौनपुर प्रवीन तिवारी ने भी जनपद के कस्तूरबा गाँधी बालिका विद्यालय में सेवा रत शिक्षिकाओ के अभिलेख खंगालने लगे। तो पता चला कि यहां भी एक मार्कसीट एवं आधार तथा जन्म तिथि बदल कर प्रीती यादव निवासीनी राम नगर जनपद मैनपुरी पुत्री लाल बहादुर यादव जनपद के मुफ्तीगंज के कस्तूरबा गाँधी बालिका विद्यालय में नौकरी कर रही है तो जबकि जनपद आजमगढ़ में नौकरी करने वाली प्रीती यादव की मार्कसीट सेम है लेकिन जन्म तिथि बदली हैं। 
इस सन्दर्भ में बीएसए ने बताया कि मामले की छानबीन की जा रही है दो जगह नौकरी करने का मामला संज्ञान में आया है खंड शिक्षा अधिकारी के माध्यम से सम्बंधित विद्यालय में क्रास लिस्ट मार्कसीट टीसी आदि का सत्यापन कराया जा रहा है कि सही कौन हैं। हलांकि शिक्षिका का मोबाइल बन्द बता रहा है 
 साथ ही बीएसए मैनपुरी को भी पत्र भेज कर पता लगाया जा रहा है। जांच के बाद कार्यवाही संभव है। बतादे प्रीती यादव का जो प्रमाण पत्र लगा हुआ है वह हाई स्कूल, इन्टर इन्दू बालिका इन्टर कालेज शाहपुर सिकरारा जौनपुर, एवं स्नातक का प्रमाण पत्र टीडी महिला कालेज जौनपुर का है। 
जनपद में प्रकरण चर्चा में आते ही असली प्रीती के पिता लाल बहादुर यादव निवासी शाहपुर जौनपुर भी सामने आ गये और बीएसए को अर्जी देकर फर्जीवाड़ा करने वालों के विरुद्ध विधिक कार्यवाही करने की मांग किया है। पेशे से अधिवक्ता लाल बहादुर यादव ने बताया कि सन् 2017 में मेरी पुत्री ने आवासीय कस्तूरबा गाँधी बालिका विद्यालय में शिक्षक पद के लिए आवेदन किया था लेकिन उसकी उम्र उस समय  नौ दिन कम होने के कारण काउन्सलिग में भाग ही नहीं लिया। उसके नाम वल्दीयत और शिक्षा प्रमाण पत्र का गलत तरीके से प्रयोग कर कोई और है जो नौकरी कर रही है। मेरे पुत्री के प्रमाण पत्र का दुरुपयोग किया गया है। यदि बीएसए जल्द विधिक कार्यवाही नहीं करते वह खुद जालसाजो के खिलाफ तहरीर देने को मजबूर होंगे ।
दूसरी ओर खबर यह है कि बीएसए ने जिला समन्वयक बेसिक शिक्षा शोभा तिवारी के माध्यम से थाना कोतवाली में प्रीती यादव पत्नी जनार्दन सिंह यादव निवासी सैदपुर गुलरियापुर पोस्ट रामनगर तहसील व थाना किशनी जनपद मैनपुरी द्वारा तथ्य गोपन कर जौनपुर के मुफ्तीगंज में शिक्षक एवं आजमगढ़ के पंवई कस्तूरबा गाँधी बालिका विद्यालय में वार्डेन पद पर नौकरी करने के खिलाफ मुकदमा तहरीर दे दिया गया है। 
जो भी हो लेकिन जनपद के अन्दर शिक्षा विभाग में फर्जीवाड़ा प्रकाश में आते ही हड़कंप मच गया है अधिकारी परेशान हैं तो शिक्षकों में भय का माहौल स्थापित हो गया है। 

Comments

Popular posts from this blog

पुलिस प्रशासन और दीवानी न्यायालय के न्यायिक अधिकारियों के बीच छिड़ी जंग, न्यायाधीश हुए सुरक्षा विहीन

एंटी करप्शन टीम के हत्थे चढ़ा चपरासी ढाई लाख रुपए घूस ले रहा था चपरासी सहित एसीओ के खिलाफ मुकदमा दर्ज

मछलीशहर (सु) संसदीय क्षेत्र से सांसद बनने के लिए दावेदारो की जाने क्या है स्थित, कौन होगा पार्टी के लिए फायदेमंद