नैक मूल्यांकन से संबंधी सभी सूचनाओं को दो दिन में ही दें: कुलपति



जौनपुर । वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय के कुलपति सभागार में बुधवार को नैक मूल्यांकन के संबंध में चर्चा की गई। इस अवसर पर कुलपति प्रो. निर्मला एस.‌मौर्य ने सभी सहायक कुलसचिव और अधीक्षकों को निर्देश दिया कि पूरे 6 साल का डाटा तैयार कर कमेटी को दो दिन में प्रेषित करें। नैक मूल्यांकन की सेवन क्रैटेरिया से संबंधित सभी सूचनाओं का सपोर्टिंग डॉक्यूमेंट होना जरूरी है। सभी सूचनाएं पारदर्शी और सत्यापित हो।
लखनऊ नैक मंथन की मीटिंग से लौटने के बाद वहां बताए गए निर्देशों का अक्षरश: पालन करने का सभी को निर्देश दिया गया। परीक्षा विभाग से परीक्षा फार्म भरने से लेकर परीक्षाफल घोषित होने तक की सभी प्रक्रियाओं का विवरण माना गया है। मांगी गई सूचनाओं में हर चीज की प्रक्रिया पारदर्शी हो इस पर विशेष ध्यान देने का निर्देश दिया गया है। विश्वविद्यालय के कुलसचिव महेंद्र कुमार ने अपने सभी मातहतों को निर्देश दिया कि समस्त सूचनाएं हार्ड और सॉफ्ट कॉपी में दो दिन के अंदर हर हाल में उपलब्ध कराएं ताकि नैक मूल्यांकन तैयारी की गति को बढ़ाई जा सके। सूचना के डाटा और कालम को लेकर अगर कोई दिक्कत आती है तो संबंधित शिक्षक से बैठकर उसे संशोधित कर ले ताकि कोई भी सूचना गलत ना हो। बैठक का संचालन आइक्यूएसी के समन्वयक प्रोफेसर मानस पांडेय ने किया। इस अवसर पर वित्त अधिकारी संजय राय परीक्षा नियंत्रक वीएन सिंह, सहायक कुलसचिव अमृतलाल, बबीता सिंह, प्रो. देवराज सिंह, डॉ प्रदीप कुमार, डॉ रवि प्रकाश, डॉ रजनीश भास्कर, डॉ. आशुतोष कुमार सिंह, डॉ. जान्हवी श्रीवास्तव, डॉ. आलोक वर्मा, डॉ. धर्मेंद्र सिंह, सत्यम, डॉ पीके कौशिक, अशोक सिंह, डॉ सुशील प्रजापति, डॉक्टर आरके जैन समेत कई शिक्षक और कर्मचारी उपस्थित थे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

अब से राशन मिलना बंद, पूरे 4 महीने के लिए लगी राशन पर रोक, जानें क्या है कारण

पूर्वांचल के रास्ते यूपी में जानें कब प्रवेश कर सकता है मानसून, भीषण गर्मी से मिलेगी निजात

सीएम योगी के एक ट्वीट से लखनऊ का नाम बदलने की सुगबुगाहट, जानें क्या हो सकता है नया नाम