आइए जानते है अचानक जनपद का बेलापार गांव चर्चा में क्यों और कैसे आया है




 
जौनपुर। जनपद जौनपुर मूल के निवासी गौरव यादव को पंजाब में मुख्यमंत्री का विशेष प्रधान सचिव बनते ही अचानक जनपद का बेलापार गांव चर्चा में आ गया है। इसे कहते है शिक्षा समाज परिवार और गांव शहर सभी का नाम रोशन करती है। जी हाँ जौनपुर जिले के निवासी और 1992 बैच के आईपीएस अधिकारी गौरव यादव (एडीजीपी) को पंजाब में बड़ी जिम्मेदारी मिली है।  गौरव यादव को मुख्यमंत्री भगवंत मान का विशेष प्रधान सचिव नियुक्त किया गया है। इस सूचना के बाद से ना सिर्फ गौरव के गांव बल्कि जिले में खुशी की लहर है।  
बक्शा थाना क्षेत्र के बेलापार गांव निवासी गौरव यादव इस समय पंजाब पुलिस के मॉडर्ननाइजेशन विंग का कार्य संभाल रहे हैं, जोकि उनके पास उक्त नई नियुक्ति के बाद भी बना रहेगा। इस तरह मुख्यमंत्री के विशेष प्रधान सचिव का कार्य उन्हें अतिरिक्त प्रभार के रूप में मिला है।
गौरव पंजाब पुलिस में अब तक विभिन्न पदों पर कार्य कर चुके हैं। वो शिअद-भाजपा गठबंधन सरकार के समय भी कई महत्वपूर्ण पदों पर रह चुके हैं। गौरव यादव की नियुक्ति मुख्यमंत्री कार्यालय में हुई दूसरी नियुक्ति है। इससे पहले आईएएस अधिकारी ए. वेणुप्रसाद को मुख्यमंत्री का विशेष प्रमुख सचिव नियुक्त किया गया था।
बेलापार गांव में गौरव यादव  के चाचा आदित्य नारायण यादव बलई ने बताया कि गौरव के पिता भगवती प्रसाद यादव सेवानिवृत्त कर्नल हैं। इस समय वह लखनऊ स्थित अपने आवास पर रह रहे हैं। भगवती प्रसाद को एक मात्र पुत्र गौरव और दो बेटियां हैं। जिसमें एक एम्स में डॉक्टर तथा दूसरी पीसीएस में एमडी है।
गौरव यादव की शिक्षा दीक्षा कानपुर, लखनऊ और दिल्ली में हुई है। गौरव की इस उपलब्धि से गांव में खुशी की लहर है। शिक्षक दीपक यादव, लालसाहब यादव, दिनेश कुमार यादव,नैपाल यादव आदि ने बताया कि पूरा गांव गौरवान्वित हैं। जनपद में ऐसे कई आईएएस और आईपीएस अधिकारी हैं जो अन्य प्रान्तो में महत्वपूर्ण पदों पर अपनी सेवा दे रहे हैं। 

खबर है कि गौरव यादव को सीएम भगवंत मान का विशेष प्रधान सचिव बनाए जाने को पंजाब सरकार में आम आदमी पार्टी के हाईकमान के दखल के तौर पर भी देखा जा रहा है। चर्चा है कि यह फैसला दिल्ली से लिया गया है। दरअसल, दिल्ली के मुख्यमंत्री व आम आदमी पार्टी के मुखिया अरविंद केजरीवाल और गौरव यादव के बीच पुराना नाता है।दोनों ने एक साथ ही 1992 में यूपीएससी की परीक्षा में बैठे थे। गौरव यादव ने आईपीएस की परीक्षा पास की थी, जबकि अरविंद केजरीवाल आईआरएस के लिए चुने गए थे। गौरव यादव पंजाब के पूर्व डीजीपी पीसी डोगरा के दामाद हैं। 

टिप्पणियाँ

  1. बहुत-बहुत बधाई गौरव ने जौनपुर का गौरव बढ़ाया है।

    जवाब देंहटाएं
  2. बहुत बहुत बधाई जौनपुर के साथ बक्सा और बदलापुर का नाम भी रोशन किये है गौरव सर।

    जवाब देंहटाएं

एक टिप्पणी भेजें

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

इलाहाबाद हाईकोर्ट का ग्रामसभा की जमीन को लेकर डीएम जौनपुर को जानें क्या दिया आदेश

सिकरारा क्षेत्र से गायब हुई दो सगी बहने लखनऊ से हुई बरामद, जानें क्या है कहांनी

खुशखबरी: बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग में मुख्य सेविका पद पर होगी भर्ती,जानें कौन कर सकेगा आवेदन