सीएम ने 10 नोडल अधिकारियों से स्पष्टीकरण मांगा, दो सफाई कर्मी का रोका वेतन,जानें क्या है आरोप


जौनपुर। नगर में बढ़ रहे संक्रामक रोग डेंगू के  बढ़ते प्रकोप को देखते हुए कार्य में लापरवाही बरतने पर जिला प्रशासन की तरफ से बड़ी कार्रवाई की गई। सिटी मजिस्ट्रेट देवेंद्र सिंह ने 10 नोडल अधिकारियों से जहां स्पष्टीकरण मांगा हैं वहीं दो सफाई कर्मियों का वेतन रोका है। प्रशासन की इस कार्रवाई से हड़कंप मचा हुआ है।
सिटी मजिस्ट्रेट देवेंद्र सिंह की तरफ से नोडल अधिकारियों को भेजे स्पष्टीकरण पत्र में कहा गया कि वर्तमान समय में डेंगू का प्रकोप चरम पर है, आपकी ड्यूटी जिलाधिकारी ने नोडल अधिकारी के रूप में लगाई है। फिर भी आप क्षेत्र में भ्रमणशील नहीं है। उनकी तरफ से क्षेत्र में कोई पर्यवेक्षण नहीं किया जा रहा है। समय पर स्पष्टीकरण न देने पर आगे की कार्रवाई की जाएगी। नोडल अधिकारी अधिशासी अभियंता एनएच पन्नालाल, सिंचाई खंड के अधिशासी अभियंता विपिन कुमार, शारदा सहायक खंड-36 अधिशासी अभियंता विशंभर प्रसाद, जल निगम रख-रखाव अधिशासी अभियंता राजेश कुमार गुप्ता, अधिशासी अभियंता लघुडाल नहर राजकुमार पांडेय, जिला पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारी सुरेश कुमार मौर्या, पीडब्ल्यूडी सीडी-2 राजेश राव, उप निदेशक कृषि प्रसार जय प्रकाश, नलकूप खंड अधिशासी अभियंता अविनाश सिंह, उपायुक्त स्वत: रोजगार ओमप्रकाश यादव को स्पष्टीकरण मांगा गया है। दो सफाई कर्मी इंतेजार, शहजादे के खिलाफ कार्रवाई करते हुए वेतन रोका गया है।
जिलाधिकारी की तरफ से डेंगू से बचाव के लिए वार्ड के हिसाब नोडल अधिकारियों व सुपरवाइजरों की तैनाती की गई है। इसमें लापरवाही बरतने पर कुल 10 नोडल अधिकारियों से स्प्ष्टीकरण मांगा गया है। वहीं दो सफाईकर्मियों का वेतन रोका गया है। सुधार न होने पर यह कार्रवाई आगे भी जारी रहेगी।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पुलिस मुठभेड़ में मारे गए बदमाशो का शव उनके पिता ने लेने से किया इनकार जानें कारण

गुरूजी को अपनी छात्रा से लगा प्रेम रोग तो अब पहुंच गए सलाखों के पीछे,थाने में हुआ एफआइआर दर्ज

पुलिस मुठभेड़ में दो सगे भाई बदमाश मारे गये एक फरार जिसकी तलाश जारी है