सादीपुर में बनने वाली सड़क के निर्माण में क्षेत्रिय जन प्रतिनिधि के हस्तक्षेप से बढ़ी लोगों में परेशानी


 जौनपुर।  जनपद के विकास खण्ड सिरकोनी क्षेत्र स्थित ग्राम सभा सादीपुर में रसैना मार्ग से सादीपुर हरिजन बस्ती के लिए स्वीकृत सड़क के निर्माण में क्षेत्रिय जन प्रतिनिधि के अनावश्यक हस्तक्षेप से ग्राम वासी सहित लोक निर्माण विभाग के अधिकारी भी खासे परेशान है। आरोप है कि जन प्रतिनिधि जबरिया जंगल काटवा कर बगैर चक मार्ग के सड़क का निर्माण कराने पर तुले हुए हैं। 
बतादे कि शासन ने रसैना मार्ग से सादीपुर हरिजन बस्ती के लिए तक सड़क की स्वीकृति प्रदान करते हुए लगभग 50 लाख रुपये की धनराशि लोक निर्माण विभाग को अवमुक्त कर दिया है।  सड़क के निर्माण की प्रक्रिया शुरू होते ही ग्रामवासियो ने विरोध जताया और कहा कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के क्रम में जंगल काटकर सड़क नहीं बनाया जा सकता है। शिकायत पर जिला प्रशासन के निर्देश पर मौके पर तहसील सदर के तहसीलदार की मौजूदगी में सड़क की नाप करायी गयी । सरकारी अभिलेख में चक मार्ग जहां पर बना है वह स्थान जंगल से लगभग 50  फिट से अधिक दूरी पर है। 
इसके बाद सड़क का काम जंगल में रोक दिया गया लेकिन बाद में स्वयं क्षेत्रीय जन प्रतिनिधि मौके पर पहुंच गये और ठेकेदार को निर्देश दिया कि सड़क जंगल से ही बना दिया जाये। हलांकि ठेकेदार प्रशासन से आदेश पाने पर काम कराने की बात कह रहा है खबर है कि अब उप जिलाधिकारी  एवं जिलाधिकारी पर दबाव डलवा कर जबरिया सड़क बनवायी जा सकती है। 
जिसे ग्रामीण जन न्यायोचित नहीं मानते हैं। हलांकि यह मामला हाई कोर्ट की शरण में जाने की तैयारी में है जिसमे लोक निर्माण विभाग के अधिकारीयो को पार्टी बनाया जा रहा है। हलांकि की लोक निर्माण विभाग के अधिकारी ने प्रशासन को पत्र भेज कर बता दिया है कि सड़क का निस्तारण होने पर ही काम संभव है। 
इस तरह जन प्रतिनिधि जी के हस्तक्षेप से सभी लोग खासा परेशानी  महसूस कर रहे हैं वहीं सड़क का लाभ बस्ती वालो को मिलने के बजाय एक परिवार को मिलना तय माना जा रहा है। 

Comments

Popular posts from this blog

पुलिस प्रशासन और दीवानी न्यायालय के न्यायिक अधिकारियों के बीच छिड़ी जंग, न्यायाधीश हुए सुरक्षा विहीन

मछलीशहर (सु) संसदीय क्षेत्र से सांसद बनने के लिए दावेदारो की जाने क्या है स्थित, कौन होगा पार्टी के लिए फायदेमंद