गुस्से में है कर्मचारी: पूर्वांचल विश्वविद्यालय के वित्त अधिकारी द्वारा आजमगढ़ विश्वविद्यालय को 100 करोड़ रुपए देने के आश्वासन का मामला




 जौनपुर । पूर्वांचल विश्वविद्यालय में अब शिक्षणेत्तर कर्मचारी मोर्चा मैदाने जंग में आ गया है। इसके अध्यक्ष श्री नाथ यादव ने कुलपति को ज्ञापन देते हुए कहा है कि हमारी मांगो पर गम्भीरता पूर्वक बिचार किया जाये अन्यथा हमारा मोर्चा भी आन्दोलन की राह पकड़ने को मजबूर होगा। 
शिक्षणेत्तर कर्मचारी मोर्चा ने अपने मांग पत्र में कहा है कि पूर्वांचल विश्वविद्यालय के  वित्त अधिकारी ने शासन को आश्वस्त किया है कि पूर्वांचल विश्वविद्यालय आजमगढ़ विश्वविद्यालय को 100 करोड़ रुपए की सहायता करेगा। वित्त अधिकारी के इस तरह के शासन में दिये गये आश्वासन से पूर्वांचल विश्वविद्यालय के कर्मचारी गुस्से में है।  यहां से आजमगढ़ विश्वविद्यालय को एक रूपये नहीं दिया जाना चाहिए। पूर्वांचल विश्वविद्यालय को जब सरकार कोई ग्रान्ट नहीं देती है तो यहाँ से धनराशि दिलाने की हकदार कैसे होगी। 100 करोड़ रुपए दिए जाने की दशा मे यहाँ के कर्मचारियों को वेतन का संकट हो जायेगा। 
शासनदेश  24 फरवरी 16 के नियमों के तहत 2001 तक के संविदा कर्मचारियों को रिक्त पदों पर विनियमित किया जाये। विश्वविद्यालय में तमाम कर्मचारियों को सेवा निवृत्त होने के बाद अब विश्वविद्यालय पर वित्तीय भार कम हुआ है अब संविदा कर्मचारियों को वेतन क्रम में किया जाये करूणा निराला प्रोगामर के रिक्त पद पर प्रमोशन की शीघ्र कार्यवाही किया जाये। 
मोर्चा के अध्यक्ष श्री नाथ यादव ने कहा कि हमारे मांगो की अनदेखी करने पर मोर्चा आन्दोलन का रास्ता पकड़ने को मजबूर हो जायेगा।अध्यक्ष ने कहा मांग पत्र पर निर्णय के लिए मोर्चा ने एक पखवारे का समय दिया है। 

Comments

Popular posts from this blog

पुलिस प्रशासन और दीवानी न्यायालय के न्यायिक अधिकारियों के बीच छिड़ी जंग, न्यायाधीश हुए सुरक्षा विहीन

मछलीशहर (सु) संसदीय क्षेत्र से सांसद बनने के लिए दावेदारो की जाने क्या है स्थित, कौन होगा पार्टी के लिए फायदेमंद