नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश, छह गिरफ्तार भेजे गए सलाखों के पीछे

 


जौनपुर। थाना लाइन बाजार एवं एसओजी की संयुक्त पुलिस टीम ने नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी करने वाले अन्तर्जनपदीय गिरोह का पर्दाफाश करते हुए गिरोह के 06 सदस्यों को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से भारी मात्रा में अपराध में प्रयुक्त सामाग्री बरामद किया और सभी के विरुद्ध मु0अ0सं0-24/23 धारा 419, 420, 467, 468, 471, 120 बी भादवि के तहत मुकदमा पंजीकृत कर जेल रवाना कर दिया है।

इस संदर्भ में अपर पुलिस अधीक्षक नगर संजय कुमार ने मीडिया को बताया कि पुलिस उप महानिरीक्षक एवं पुलिस अधीक्षक जौनपुर को शिकायत मिली की जनपद में नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी का खेल हो रहा है इस पर उन्होंने थाना लाइन बाजार को निर्देशित कर उक्त धाराओ में मुकदमा दर्ज कर बदमाशो की गिरफ्तारी का आदेश दिया उसी क्रम में थानाध्यक्ष लाइन बाजार आदेश त्यागी मय हमराह व उ0नि0 मनोज कुमार सिंह, एसओजी प्रभारी मय हमराह व उ0नि0 रामजनम यादव प्रभारी सर्विलांस टीम के साथ क्षेत्र के धन्नेपुर चौराहे पर संदिग्ध व्यक्ति/वाहन की चेकिंग कर रहे थे। जरिये मुखबिर सूचना मिली कि धन्नेपुर चौराहे पर मौर्या मेडिकल के बगल में पाल के मकान में कुछ लोग नौकरी दिलाने के नाम पर लोगों से पैसे लेते हैं तथा फर्जी नियुक्ति पत्र देते हैं। इस सूचना पर विश्वास कर पुलिस टीम मुखबिर के साथ पाल के मकान पर पहुँची। उच्चाधिकारियों के निर्देश व नियमानुसार कार्यवाही करते हुए मकान की तलाशी ली गई तो कुछ व्यक्ति व महिला मिली जिनसे उनका नाम पता पूछा गया तो अपना नाम 1- पंकज कुमार पुत्र महन्तु मौर्या निवासी मेवपुर थाना कदौली कला जनपद सुल्तानपुर। 2.सत्यप्रकाश पुत्र दुर्गा प्रसाद निवासी गौहनिया थाना गोसाइंगंज जिला आयोध्या।3.अंकूर कुमार पुत्र त्रिलोकीनाथ निवासी अखईपुर थाना इब्राहिमपुर जनपद अम्बेडकर नगर। 4.पियूष पाल पुत्र सुबेदार पाल निवासी पटखौली थाना केराकत जनपद जौनपुर।  5.पूनम सरोज पुत्री स्व0 राजनरायन सरोज निवासी अकबेलपुर थाना जहानागंज जनपद आजमगढ। 6.प्रियका राजभर पुत्री रामजनत राजभर निवासी सुग्घी थाना जहानागंज जनपद आजमगढ़ बताया। इनके पास से 12 मोबाइल 03 गूगल-पे बार कोड,  03 बैग में नौकरी दिलाने वाले विज्ञापन पम्पलेट, एक बैग मे कुल 210 फर्जी भरा हुआ फार्म, 12 एटीएम, 04 मोहर, एक मोहर पैड 01, वाईफाई एयरटेल राउटर, 04 फर्जी आईडी पर बनी सीम, तलाशी के 4615 रुपये तथा आफिस के बाहर खड़ा एक मोटर साइकिल व 01 अल्टो मारुती कार बरामद हुई। कड़ाई से पूछताछ पर पकड़े गये अभियुक्तों द्वारा बताया गया कि हम लोग जनपद जौनपुर व आसपास के जनपद में विभिन्न कम्पनियों में नौकरी दिलाने के नाम पर पम्पलेट छपवाकर सार्वजनिक स्थानों पर चस्पा कर देते हैं, जब पम्पलेट पर छपे हुए मोबाइल नम्बरों पर काल आती है तो रजिस्ट्रेशन के नाम पर दिल्ली के रहने वाले मो0 सोएब के मो0नं0 9058387535 तथा कानपुर के अनुराग कुमार के मो0नं0 9260902553 पर फोन पे के माध्यम से पैसा मंगाते हैं, तथा फर्जी नियुक्ति पत्र जरिए व्हाट्सएप भेज देते है तथा ड्रेस व ट्रेनिंग के नाम पर और पैसे की मांग करते है, तथा पैसा मिलने के बाद ज्वाइनिंग मांगने पर समय देकर टालमटोल करते रहते है, जब काफी पैसा इकठ्ठा हो जाता है तब हम लोग आफिस बन्द करके भाग जाते हैं।


इस्तेमाल किए सिम को बन्द कर तथा पुनः दूसरे जनपद में फर्जी आईडी से नया सिम लेकर पुनः कार्य शुरू करते है। पकड़े गये अभियुक्तों को उनके अपराध का बोध कराकर हिरासत पुलिस लेकर आवश्यक वैधानिक कार्यवाही करते हुए सभी को जेल रवाना कर दिया गया है तथा उपरोक्त अभियुक्तों के द्वारा किए गए अन्य जनपदों में किए गए अपराधों से सम्बन्धित अभियोगों की जानकारी की जा रही है। 


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मेदांता में इलाज करा रहे इस आईएएस अधिकारी का हुआ निधन

जौनपुर में फिर तड़तड़ायी गोलियां एक युवक गम्भीर रूप से घायल बदमाश फरार, पुलिस अंधेरे में चला रही छानबीन की तीर

थाना चन्दवक की वसूली लिस्ट वायरल होने पर एक बार फिर सुर्खियों में पुलिस जांच शुरू