मतदान केन्द्रो की व्यवस्थाओ को लेकर बैठक में डीएम का अपने अधीनस्थ अधिकारियों को दिया यह निर्देश


जौनपुर। जिला निर्वाचन अधिकारी  रविंद्र कुमार माँदड़ की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में निर्वाचन के प्रभारी अधिकारियों के साथ बैठक सम्पन्न हुई।बैठक में जिला निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि जनपद में नामांकन की प्रक्रिया पूरी कर ली गई है, अब मतदान और मतगणना की तैयारी की जा रही है, इसके संबंध में उन्होंने निर्देशित किया कि सभी खंड विकास अधिकारी और अधिशासी अधिकारी अपने-अपने क्षेत्र के मतदान केंद्रो पर मूलभूत सुविधा उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें।
उन्होंने निर्देशित किया कि मतदान केंद्र पर विद्युत आपूर्ति, गर्मी को देखते हुए टेंट की व्यवस्था, शौचालय की व्यवस्था, फर्नीचर, गद्दा, चादर आदि की व्यवस्था उपलब्ध रहे।
उन्होंने निर्देश दिया कि मतदान केद्रों पर साफ-सफाई के लिए अतिरिक्त सफाई कर्मी की व्यवस्था कर ली जाए। मतदान कार्मिक और मतदाताओं को किसी भी प्रकार की परेशानी का सामना न करना पड़े। जिला निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि सभी मतदान केंद्रो पर एक व्हीलचेयर की व्यवस्था की जाए, जिससे दिव्यांग और बुजुर्ग मतदाताओं को मतदान के दौरान समस्या का सामना न करना पड़े।
जिला निर्वाचन अधिकारी ने सभी अधिकारियों को निर्देशित किया कि पारदर्शी तरीके से निर्वाचन प्रक्रिया को संपादित करने में अपना योगदान दे। इस दौरान जिला निर्वाचन अधिकारी के द्वारा कमिश्निंग के दौरान की जाने वाली प्रक्रिया, पचासी प्लस और दिव्यांग मतदाताओं के मतदान प्रक्रिया के बारे में विस्तार से जानकारी प्रदान की गयी और आयोग के द्वारा बताए गए नियमों के अनुसार ही वोटिंग करने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिये गये। जिला निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि मतदाता पर्ची का वितरण बीएलओ अभी से ही करना शुरू कर दें जिससे 20 मई 2024 तक प्रत्येक दशा में मतदाता पर्ची वितरण कार्य पूर्ण हो सके।  
इस अवसर पर ज्वॉइट मजिस्ट्रेट इशिता किशोर, उप जिला निर्वाचन अधिकारी राम अक्षयबर चौहान, मुख्य राजस्व अधिकारी गणेश प्रसाद सिंह, नगर मजिस्ट्रेट इन्द्रनन्दन सिंह, जिला विकास अधिकारी वी0के0 यादव, एआरओ/तहसीलदार, नायब तहसीलदार, जिला सूचना अधिकारी मनोकामना राय, खण्ड विकास अधिकारीगण सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।

Comments

Popular posts from this blog

जौनपुर में चुनावी तापमान बढ़ाने आ रहे है सपा भाजपा और बसपा के ये नेतागण, जाने सभी का कार्यक्रम

अटाला मस्जिद का मुद्दा भी अब पहुंचा न्यायालय की चौखट पर,अटाला माता का मन्दिर बताते हुए परिवाद हुआ दाखिल

मछलीशहर (सु) लोकसभा में सवर्ण मतदाताओ की नाराजगी भाजपा के लिए बनी बड़ी समस्या,क्या होगा परिणाम?