दावे तो बहुत लेकिन जनपद में आज तक एक भी वेल्टिनेटर मशीने नहीं लगायी जा सकी


       सीएमओ जौनपुर  डा राम जी पाण्डेय 
जौनपुर  । जनपद में लगातार कोरोना पाजिटिव मरीजो की संख्या बढ़ती जा रही है। वहीं  उनके उपचार हेतु स्वास्थ्य व्यवस्थाओं के प्रति स्वास्थ्य विभाग द्वारा बरती जा रही लापरवाहिया एक अनुत्तरित सवाल खड़ा करती है। मार्च 2020 जब देश में कोरोना संक्रमण शुरू हुआ लगभग तभी से जिला प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग के हुक्मरानो ने जिले में  वेल्टिनेटर मशीन लगाने की चर्चा शुरू किया लेकिन लगभग तीन माह बीत गये आज तक जिले में एक भी वेल्टिनेटर मशीन अपना काम नहीं शुरू कर सकी है यह सरकारी तंत्र की लापरवाही नहीं तो और क्या है। हां इतना जरूर है कि जिम्मेदार लोग केवल झूठे बयान जारी कर जनपद वासियों को गुमराह कर अपनी पीठ खुद ही थपथपाने का कार्य जरूर कर ले रहे हैं ।
यहाँ  बतादे कि जौनपुर  वाराणसी मार्ग पर स्थित हौज में  बने ट्रामा सेंटर मे विगत कई वर्षों से चार वेल्टिनेटर मशीने आकर रखी हुई है आज तक  स्वास्थ्य विभाग इसको चालू नहीं करा सका है।  इसके पीछे कारण चाहे जो भी हो लेकिन लापरवाही तो विभाग के उच्चाधिकारियों की प्रकाश में आयी है। कोरोना संकट काल में जब वेल्टिनेटर मशीन की शक्त आवश्यकता थी तब हमारे जनपद के मरीजो को वाराणसी का मुंह ताकना पड़ा है। 
इसके बाद जनपद में शहर के विधायक प्रदेश सरकार में आवास विकास राज्य मंत्री गिरीश चन्द यादव ने अपने विधायक निधि से स्वास्थ्य विभाग को वेल्टिनेटर मशीन के लिए पैसा दिया। जिसे जिला अस्पताल में लगाये जाने की बात स्वास्थ्य विभाग ने बताया था।  सूत्र की खबर के अनुसार डीआरडीए विभाग ने स्वास्थ्य विभाग को  विगत मई माह में  धनराशि रिलीज़ भी कर दिया। लेकिन आज तक मशीन जिला अस्पताल में लगाया जाना तो दूर की बात है मशीन आयी ही नहीं है। 
             अन स्टाल वेेंटिलेटर मशीन 
यही नहीं कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए सरकार ने भी मरीजो के उपचार हेतु चार  वेल्टिनेटर मशीने जनपद के स्वास्थ्य विभाग को दिया है उसे सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र रेहटी में  लगाने की बात स्वास्थ्य विभाग करता जरूर है लेकिन सरकार द्वारा दी गयी वेल्टिनेटर मशीनों को आज तक चालू नहीं कराया जा सका है। 
इस सन्दर्भ में  सीएमओ डा राम जी पाण्डेय से बात करने पर उन्होंने स्वीकार किया कि वेल्टिनेटर मशीने चालू करने में विलम्ब हो रहा है। इसके पीछे कई कारण हैं पहला तो मानव साधन का संकट है। दूसरा बिजली की समस्या है। वाराणसी मार्ग पर स्थित जलालपुर के पास  रेहटी में वेल्टिनेटर मशीन लगाने का काम चल रहा है ये आधुनिक मशीने है जल्द चालू होने का दावा तो किया लेकिन समय नहीं बता सके कि वेल्टिनेटर मशीने कब से काम करने लगेगी । लेकिन हौज एवं जिला अस्पताल में लगने वाली मशीनो के बिषय में किसी तरह की चर्चा करने से परहेज कर लिया। 
इस तरह जो स्थित दृष्टिगोचर है वह साफ तौर पर बता रही है कि आज तक जनपद में एक भी वेल्टिनेटर मशीन अपना काम नहीं शुरू कर सकी है। जबकि प्रति दिन जिले में कोरोना पाजिटिव मरीजो की संख्या बढ़ती जा रही है। उनके सघन उपचार में वेल्टिनेटर मशीन खासी सहायक मानी जा रही है। मशीनों का अब तक नहीं लग पाना स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की लापरवाही ही माना जाएगा। साथ ही यदि यह भी कहा जाये कि स्वास्थ्य विभाग जनपद वासियों के स्वास्थ्य के प्रति गम्भीर नहीं है तो अतिशयोक्ति नहीं होगा। 

Comments

Popular posts from this blog

पुलिस प्रशासन और दीवानी न्यायालय के न्यायिक अधिकारियों के बीच छिड़ी जंग, न्यायाधीश हुए सुरक्षा विहीन

मछलीशहर (सु) संसदीय क्षेत्र से सांसद बनने के लिए दावेदारो की जाने क्या है स्थित, कौन होगा पार्टी के लिए फायदेमंद