जदयू नेता दीपक को गोली मारकर हत्या, पूरे राजधानी में सनसनी फैली, अपराधी पुलिस पकड़ से दूर


बिहार की राजधानी पटना से बड़ी खबर आ रही है। यहां सोमवार शाम के समय सत्ताधारी दल जदयू के नेता दीपक कुमार मेहता की हत्या कर दी गई। दीपक जदयू नेता होने के साथ ही दानापुर नगर परिषद के उपाध्‍यक्ष थे। बताया जा रहा कि कई दिनों से उनको धमकीभरे फोन भी आ रहे थे, लेकिन वे चुनाव लड़ने की तैयारी में लगे रहे। जदयू नेता दीपक कुमार मेहता की गोली मारकर हत्या कर दी गई। इस वारदात से सत्ताधारी दल जदयू में भीषण आक्रोश भरा हुआ है। साथ ही मिली जानकारी के मुताबिक, वे दानापुर से विधानसभा का चुनाव लड़ने की तैयारियों में लगे हुए थे। इस बीच उन्‍हें बहुत धमकियां भी मिल रही थी। 
 हमले के बारे में बताया जा रहा है कि संदिग्घ बदमाशों ने उन्‍हें पांच गोलियां मारी हैं। सिर में एक और पेट एवं फेफड़े में दो-दो गोलियां लगी हैं। लेकिन अस्‍पताल पहुंचने से पहले ही दीपक की मौत हो चुकी थी। फिलहाल इस मामले से पूरी राजधानी में सनसनी फैली हुई है। वहीं वारदात के बारे में मृतक के परिजनों ने एक स्‍थानीय अपराधी का खुलासा भी किया है। पर अभी इस मामले की लिखित शिकायत दर्ज नहीं हुई है। इस मामले के बारे में मिली जानकारी के मुताबिक, जदयू नेता दीपक ने कुछ ही दिनों पहले होली मिलन समारोह कराया था। इस समारोह में जदयू नेता उपेंद्र कुशवाहा और भाजपा के अन्य कई नेता भी शामिल हुए थे। बताया जा रहा कि उपेंद्र कुशवाहा से दीपक का रिश्‍ता काफी अच्छा बताया जा रहा था। दीपक उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी रालोसपा से भी जुड़े हुए थे। 
दीपक की हत्या के बारे में परिवार वालों की माने तो दीपक ने जब दानापुर से विधानसभा चुनाव लड़ने का एलान किया, तो एक दबंग ने उन्‍हें धमकी दी थी। जिससे सावधानी बरतते हुए उन्‍होंने अपने घर की चाहरदीवारी को ऊंचा करवा लिया था। बताया जा रहा कि दानापुर के तकियापर इलाके में दीपक का डीके प्रापर्टी डीलर नाम से एक कार्यालय है। अब इसी इलाके में दीपक की हत्‍या के बाद से काफी बवाल मचा हुआ है। राजधानी में हुई इस घटना पर जदयू के संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा ने हत्यारों की जल्द से जल्द से गिरफ्तारी की मांग की है। उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा- पार्टी के नेता और दानापुर नगर परिषद उपाध्यक्ष दीपक मेहता जी की अपराधियों द्वारा गोली मारकर की गई हत्या से मर्माहत हूं। पुलिस-प्रशासन अपराधियों की अविलंब गिरफ्तारी करे और कठोरतम सजा दिलवाए।  

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भाभी को अकेला देख देवर की नियत हुई खराबा, जानें फिर क्या हुआ, पुलिस को तहरीर का इंतजार

घुस लेते लेखपाल रंगेहाथ गिरफ्तार, मुकदमा दर्ज कर एनटी करप्शन टीम ले गयी साथ

सिद्दीकपुर में चला सरकारी बुलडोजर मुक्त हुई 08 करोड़ रुपए मालियत की सरकारी जमीन