पुरानी पेंशन सहित तमाम मांगो को लेकर डाक कर्मी हड़ताल पर, करोड़ो का कारोबार प्रभावित


जौनपुर। केंद्र सरकार के कर्मचारी विरोधी नीतियों के लेकर डाक विभाग के कर्मचारी केंद्रीय महासंघ के आह्वान पर आज मंगलवार को दूसरे दिन भी डाक कर्मी हड़ताल पर रहे जिसका पूरे जिले में व्यापक असर साफ दिखाई दे रहा था जिले के सभी डाकघरों पर ताले लटके दिखाई देते रहे कर्मचारियों का कहना है कि जब तक हमारी मांगे पूरी नहीं होंगी तब तक हम इसी तरह आंदोलन करते रहेंगे कर्मचारियों के हड़ताल से ग्रामीण क्षेत्रों में भी डाक सेवाएं पूरी तरह से प्रभावित रही लगभग 25 करोड़ों का लेनदेन प्रभावित हुआ प्रशासन द्वारा हड़ताल के दौरान कर्मचारियों के डराने धमकाने का कार्य किया जा रहा है फिर भी हमारे कर्मचारी हड़ताल पर डटे रहे यहां तक की कर्मचारी अपनी मांगों को लेकर जेल तक जाने के लिए भी तैयार है कर्मचारियों की प्रमुख मांगे निम्न प्रकार हैं
1 -पुरानी पेंशन बहाल की जाए
2 -18 माह का रोका गया महंगाई भत्ता दिया जाए
3-सरकारी विभागों को बेचना बंद किया जाए
4-कर्मचारी विरोधी कानून को समाप्त किया जाए
5-अनुकंपा मुल्क भर्तियों में 5% की सीमा हटाई जाए
6-डाक सेवा में 5 दिन का कार्य दिवस लागू किया जाए
7-कमलेश चंद्रा समिति की सभी सिफारिशें लागू किया जाए तथा ग्रामीण डाक सेवकों को नियमित किया जाए
8_ केंद्र सरकार के सभी विभागों में खाली पदों को भरा जाए
9-कैजुअल व कॉन्ट्रैक्ट वर्कर्स को नियमित किया जाए इत्यादि 22 सूत्री मांगे प्रमुख हैं। धरने को कर्मचारी नेता गण सभाजीत पाल अध्यक्ष पी 3, हरिशंकर यादव प्रांतीय संगठन मंत्रीपी4 श्रवण कुमार अध्यक्ष पी फोर व राजेश कुमार सिंह मंडली सचिव ग्रामीण डाक सेवक के अलावा ऋषिकेश विकास यादव शकील अहमद ने सम्बोधित किया ।हड़ताल में भाग लेने वाले लोगों में सर्वेश सिंह विक्रम सिंह बृजेश कनौजिया पूजा गुप्ता सतीश सिंह रीना मौर्य महेंद्र यादव फातमा आनंद शुक्ला सुशील कुमार संजय कुमार यादव सादिक अली अमरनाथ पाल सहित जनपद के सभी कर्मचारी हड़ताल पर रहे

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भाभी को अकेला देख देवर की नियत हुई खराबा, जानें फिर क्या हुआ, पुलिस को तहरीर का इंतजार

घुस लेते लेखपाल रंगेहाथ गिरफ्तार, मुकदमा दर्ज कर एनटी करप्शन टीम ले गयी साथ

सिद्दीकपुर में चला सरकारी बुलडोजर मुक्त हुई 08 करोड़ रुपए मालियत की सरकारी जमीन