मछलीशहर पहुंचे बुलडोजर के सच की कहांनी जानें आखिर है क्या ? सपा नेता और प्रशासन अपने सही बताने में जुटे


जौनपुर। जनपद में सरकारी जमीन पर किये जाने वाले अतिक्रमण के खिलाफ अभियान चलाने का दावा करने वाले अधिकारी अब सफाई पेश कर खुद को सही बताने में लग गये है ऐसी स्थिति क्यों उत्पन्न हुई यह एक बड़ा सवाल है? जब जिले के हुक्मरान सही कार्यवाई कर रहे है।  
जिला सूचना विभाग के जरिए अपर जिलाधिकारी भू-राजस्व रजनीश राय का एक बयान कुछ इसी तर्ज पर जारी किया गया जिसमें कहा गया है कि सीआरओ ने अवगत कराया है कि जनपद में सरकारी भूमियों पर अवैध अतिक्रमण, अवैध निर्माण व अवैध निर्माण कार्य के विरुद्ध सघन रूप से बेदखली का अभियान चलाया जा रहा है। इसमें किसी प्रकार की पक्षपातपूर्ण कार्यवाही नहीं की जा रही है। कतिपय लोगों द्वारा जनमानस में यह अफवाह फैलाने का प्रयास किया जा रहा है कि किसी एक पक्ष के विरुद्ध में जानबूझकर कार्रवाई की जा रही है जबकि शासन की स्पष्ट मंशा है कि कोई भेदभाव पूर्ण कार्यवाही किसी भी दशा में न किया जाए और कोई भी अवैध अतिक्रमणकारी को भरसक प्रयास कर न छोड़ा जाए। जिला प्रशासन द्वारा जो अभियान चलाया जा रहा है यह पूर्णत: भेदभाव रहित है।
यहां बता दे कि जिस बाउन्ड्री वाल और नाले की बात सरकारी तंत्र कर रहा है वह कोई नया नहीं है तो पहले इस पर नजर सरकारी की क्यों नहीं पड़ी। वर्तमान समय में उमाशंकर अस्पताल के स्वामी डा मनोज कुमार यादव सपा के टिकट पर चुनाव मैदान में है और नामांकन वापस होने की अन्तिम तिथि 24 मार्च रही और 24 मार्च को ही सरकारी बुलडोजर और नोटिस आदि सब कुछ डा मनोज कुमार यादव के अस्पताल पर पहुंच गया आखिर क्यों?
हलांकि डा मनोज कुमार यादव का आरोप है कि चुनाव से पर्चा वापस लेने के लिए सरकारी स्तर से पूरा दबाव बनाया गया लेकिन हम झुकने वाले नहीं है न ही पर्चा वापस लेगे प्रशासन के लोग चाहे जो करें परवाह नहीं है। डा मनोज कुमार यादव ने यह भी कहा कि जिसे सरकारी तंत्र नाला बता रहा है वह हमारी जमीन है और जनता की सुविधा और वर्षात के जल निकासी हेतु हमने खुद बनवाया है। प्रशासन को अगर शिकायत मिली है तो अभिलेखो की छानबीन करे हमें नोटिस दे हम अपनी जमीन होने का प्रमाण देंगे  सीधे बुलडोजर आखिर क्यों भेजा गया यह एक बड़ा सवाल खड़ा होता है। जो भी हो इसको लेकर अब सपा नेता और प्रशासन के बीच सफाई और सियासत शुरू हो गयी है। जनता सच जानने में जुट गयी है। 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भाभी को अकेला देख देवर की नियत हुई खराबा, जानें फिर क्या हुआ, पुलिस को तहरीर का इंतजार

सिद्दीकपुर में चला सरकारी बुलडोजर मुक्त हुई 08 करोड़ रुपए मालियत की सरकारी जमीन

घुस लेते लेखपाल रंगेहाथ गिरफ्तार, मुकदमा दर्ज कर एनटी करप्शन टीम ले गयी साथ