यूपी बोर्ड की नकल विहीन परीक्षा सम्पन्न कराने के लिए जौनपुर सहित 16 जनपद अतिसंवेदनशील घोषित

आगामी 16 फरवरी से शुरू हो रही यूपी बोर्ड की दसवीं और 12वीं की परीक्षाओं की तैयारी पूरी हो चुकी है। प्रदेश के 16 जिलों को अतिसंवेदनशील श्रेणी में रखा गया है। इसमें प्रयागराज, बलिया, आजमगढ़, मऊ, गाजीपुर, चंदौली, जौनपुर, देवरिया, गोंडा, मथुरा, अलीगढ़, मैनपुरी, एटा, बागपत, हरदोई और कौशाम्बी जिले शामिल हैं। बोर्ड परीक्षा के लिए प्रदेश में कुल 8753 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। इन केंद्रों पर 10वीं और 12वीं के 58 लाख से अधिक परीक्षार्थी परीक्षा में शामिल होंगे। 242 परीक्षा केंद्रों को अतिसंवेदनशील और 936 संवेदनशील श्रेणी में रखा गया है।
माध्यमिक शिक्षा परिषद की बोर्ड परीक्षा में हाईस्कूल की परीक्षा 12 और इंटर की परीक्षा 14 कार्य दिवस में पूरी होगी। पिछले वर्ष की तुलना में इस बार परीक्षार्थियों की संख्या में 6,93,129 बढ़ी है। इसके बाद भी परीक्षा केंद्रों की संख्या 4.5 प्रतिशत बढ़ाई गई है। परीक्षा केंद्रों के निरीक्षण एवं पर्यवेक्षण के लिए जिलों में 1390 सेक्टर मजिस्ट्रेट, 455 जोनल मजिस्ट्रेट, 521 सचल दल तथा 75 राज्य स्तरीय पर्यवेक्षक अधिकारियों की नियुक्ति की गई है।
नकल रोकने को लगाए गए 3 लाख सीसीटीवी कैमरे
यूपी बोर्ड परीक्षा में नकल रोकने के लिए प्रदेश में 1.43 लाख परीक्षा कक्षों में 3 लाख वायस रिकार्डर युक्त सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। इसके साथ ही डीवीआर राउटर डिवाइस एवं हाईस्पीड इंटरनेट कनेक्शन की व्यवस्था की गई है। परीक्षा केंद्रों की मॉनिटरिंग के लिए लखनऊ में सभी प्रकार की तकनीकी सुविधाओं से युक्त कंट्रोलरूम व मॉनीटरिंग सेंटर की स्थापना की गई है।इन परीक्षा केंद्रों की वेब कास्टिंग के जरिये लाइव मॉनिटरिंग की जाएगी। संवेदनशील व अति संवेदनशील परीक्षा केंद्रों की निगरानी के लिए एसटीएफ व स्थानीय अभिसूचना इकाई (एलआईयू) को सक्रिय कर दिया गया है।
इसके अलावा इस बार की बोर्ड परीक्षा में परीक्षा केंद्रों पर प्रश्नपत्रों की सुरक्षा व्यवस्था को देखते हुए पहली बार प्रधानाचार्य कक्ष से अलग सुरक्षित कक्ष में डबल लॉक अलमारी में प्रश्नपत्रों को रखने की व्यवस्था की गई है। प्रश्नपत्रों के लिफाफों के रखरखाव एवं उन्हें खोले जाने के लिए केंद्र व्यवस्थापक, अतिरिक्त केंद्र व्यवस्थापक और स्टेटिक मजिस्ट्रेट को संयुक्त रूप से जिम्मेदारी दी गई है। उत्तर पुस्तिकाओं की शुचिता एवं सुरक्षा को देखते हुए इस बार सभी जनपदों में सिलाई युक्त उत्तर पुस्तिकाएं भेजी गई हैं। इसके साथ ही क्रमांकित एवं चार रंगों में उनको छापा गया है।
उत्तर पुस्तिकाएं भेजी गई हैं। इसके साथ ही क्रमांकित एवं चार रंगों में उनको छापा गया है।
उत्तर पुस्तिकाओं पर क्यूआर कोड एवं बोर्ड का लोगो भी मुद्रित किया गया है। पहली बार बोर्ड परीक्षा में 20 अंकों की परीक्षा ओएमआर शीट पर होगी। बोर्ड के सचिव दिव्यकांत शुक्ला के मुताबिक बोर्ड परीक्षा को लेकर सभी तैयारियां पूरी हो चुकी हैं।
परीक्षार्थियों और लोगों की शिकायतों के त्वरित निदान के लिए राज्य कंट्रोलरूम बनाया गया है, इसके लिए दो हेल्प लाइन नंबर भी जारी किए गए हैं।परीक्षार्थियों, अभिभावकों और लोगों की मदद के लिए व्हाट्सएप नंबर 9569790534 जारी किया गया है।यूपी बोर्ड की दसवीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा में इस बार प्रदेश के विभिन्न जेलों से 170 बंदी भी शामिल होंगे। इसमें हाईस्कूल की परीक्षा में 79 और इंटरमीडिएट की परीक्षा में 91 बंदियों को शामिल होना है।

Comments

Popular posts from this blog

भीषण दुर्घटना एक परिवार के आठ सदस्यो की दर्दनाक मौत, पुलिस ने किया विधिक कार्यवाई, इलाके में कोहराम

जौनपुरिया दूल्हा स्टेज पर पिया गांजा तो दुल्हन ने किया शादी से इन्कार,पुलिसिया हस्तक्षेप के बाद बगैर दुल्हन के लौटे बाराती

एक लाख रुपए घूस लेते हुए लेखपाल चढ़ा एन्टी करप्शन टीम के हाथ पहुंच गया सलाखों के पीछे जेल