अतीक अशरफ हत्याकांड के शूटरों से हो सकती है दुबारा पूछताछ, एसआईटी मिले ऐसे कुछ साक्ष्य


अतीक-अशरफ हत्याकांड में गिरफ्तार शूटरों से जल्द दोबारा पूछताछ हो सकती है। मुकदमे की विवेचना कर रहे विशेष जांच दल (एसआईटी) को चश्मदीदों के बयान से कुछ ऐसे साक्ष्य मिले हैं जो हत्याकांड से जुड़े राज को खोलने में अहम हो सकते हैं। ऐसे में एसआईटी की ओर से जल्द ही इसके लिए अर्जी दी जा सकती है।
एसआईटी इस मामले में अब तक 60 से अधिक लोगों का बयान ले चुकी है। इसके अलावा सीन रीक्रिएशन के साथ ही तीनों शूटरों को पुलिस कस्टडी रिमांड पर लेकर भी पूछताछ कर चुकी है। मौके से बरामद हथियारों को भी बैलिस्टिक जांच के लिए भेजा जा चुका है।
सूत्रों का कहना है कि विवेचना में एसआईटी को कुछ ऐसे साक्ष्य मिले हैं जो हत्याकांड से जुड़े राज खोलने में बेहद अहम हो सकते हैं। घटना के सीसीटीवी फुटेज और चश्मदीदों के बयान से यह साफ हो गया है कि शूटर वारदात से कितनी देर पहले वहां पहुंचे थे। इस दौरान उनकी गतिविधियां क्या थीं, हत्या से ठीक पहले वह क्या करते रहे, इसका भी ब्योरा एसआईटी के पास है। 
ऐसे तमाम साक्ष्य हैं जिनकी पड़ताल की जाए तो हत्याकांड से जुड़े बड़े राज का पर्दाफाश हो सकता है। यही वजह है कि एसआईटी अब दोबारा शूटरों से पूछताछ की तैयारी में है। हालांकि इसके लिए उसे कोर्ट से अनुमति लेनी होगी। सूत्रों का कहना है कि एसआईटी जल्द ही इसके लिए अर्जी भी दे सकती है।
एसआईटी इस मामले में सीबीआई की तर्ज पर विवेचना कर रही है। घटना के जो भी चश्मदीद हैं, उनके बयान में बताई गई एक-एक बातों का मिलान भी वीडियो फुटेज से कराया जा रहा है। अगर बयान और फुटेज में कोई विरोधाभास है तो उसे लेकर भी संबंधित से स्पष्टीकरण लिया जा रहा है। जानकारों का कहना है कि बेहद हाई प्रोफाइल मामला होने के चलते एसआईटी इस प्रकरण में फूंक-फूंककर कदम रख रही है।

Comments

Popular posts from this blog

जौनपुर में चुनावी तापमान बढ़ाने आ रहे है सपा भाजपा और बसपा के ये नेतागण, जाने सभी का कार्यक्रम

अटाला मस्जिद का मुद्दा भी अब पहुंचा न्यायालय की चौखट पर,अटाला माता का मन्दिर बताते हुए परिवाद हुआ दाखिल

मछलीशहर (सु) लोकसभा में सवर्ण मतदाताओ की नाराजगी भाजपा के लिए बनी बड़ी समस्या,क्या होगा परिणाम?