दोहरे हत्याकांड के हत्यारे साजिद को घटना के तीन घन्टे के अन्दर पुलिस ने उतार दिया मौत के घाट


प्रदेश के जनपद बदायूं में दिल दहला देने वाली घटना को अंजाम देने वाले हत्यारे साजिद को पुलिस ने भी मुठभेड़ के दौरान मार गिराया है। दो बच्चों की हत्या के बाद भीड़ आक्रोशित हो गई थी उन्होंने आगजनी कर तोड़फोड़ भी की। 
बदायूं की मंडी समिति पुलिस चौकी से 500 मीटर दूर बाबा कॉलोनी में मंगलवार शाम साढ़े छह बजे ठेकेदार विनोद ठाकुर के दो बेटों आयुष (13) और अहान (6) की चाकू से गला रेतकर हत्या कर दी गई। उनके मकान के सामने हेयर सैलून चलाने वाले साजिद ने अपने दो साथियों के साथ वारदात को अंजाम दिया। वारदात के तीन घंटे के बाद पुलिस ने मौके से करीब दो किमी दूर घेराबंदी कर आरोपी साजिद को भी मुठभेड़ में मार गिराया। मुठभेड़ में इंस्पेक्टर गौरव विश्नोई भी घायल हुए हैं। 
साजिद ने बड़ी ही बेरहमी से दोनों बच्चों का कत्ल किया। उसके हाथ बच्चों के खून से सने हुए थे। उसके पूरे शरीर पर खून ही खून लगा था। पुलिस के मुताबिक हत्यारोपी साजिद उनके घर से निकलकर भागा था। जब थाना पुलिस मौके पर पहुंची तो लोगों ने बताया कि हत्यारोपी खून से सना हुआ घर से बाहर निकलकर भागा हुआ है। इससे पुलिस उसके पीछे लग गई। इंस्पेक्टर गौरव बिश्नोई और एसओजी टीम उसे खोजती हुई शेखूपुर के जंगल में पहुंच गई।
पुलिस ने कहा- पहले आरोपी ने की फायरिंग 
पुलिस के मुताबिक पहले आरोपी ने पुलिस टीम पर फायरिंग की, जिससे पुलिस को फायरिंग करनी पड़ी। इसमें हत्यारोपी साजिद मारा गया। तो वहीं गोली लगने से इंस्पेक्टर गौरव बिश्नोई को भी गोली लग गई। उन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। हालत गंभीर होने पर इंस्पेक्टर को आईसीयू वार्ड में भर्ती कराया गया है। जहां उनका उपचार चल रहा है। 
आईजी डॉ. राकेश कुमार कहना है कि हत्यारोपी घर से निकलकर भागा था। पुलिस उसका पीछा कर रही थी। पहले उसने गोली चलाई, फिर पुलिस ने फायरिंग की। इसमें आरोपी पुलिस मुठभेड़ में मारा गया। घटना के तीन घंटे के भीतर आरोपी मुठभेड़ में ढेर हो गया। उसे दो गोलियां लगी हैं।
6.30 बजे साजिद अपने भाई जावेद के साथ विनोद के घर पहुंचा
6.35 बजे संगीता दोनों के लिए चाय बनाने चली गई
6.40 बजे साजिद पहली मंजिल पर विनोद की मां से मिला
6.45 बजे साजिद विनोद के बेटे आयुष और आहान लेकर छत पर चला गया।
6.55 बजे विनोद का मंझला बेटा पीयूष पानी लेकर छत पर पहुंचा।
7.00 बजे पड़ोसियों ने संगीता और पीयूष को बाहर खींच लिया।
7.30 बजे से भीड़ जुटनी शुरू हुई
7.45 बजे गुस्साए लोग मंडी समिति पुलिस चौकी पहुंचे
7.50 बजे पुलिस चौकी के बाहर रखी कुर्सियों में तोड़फोड़
8.00 बजे चौकी के आसपास खोखों में तोड़्रफोड़ कर आग लगाई
8.15 बजे जिलेभर का फोर्स पुलिस चौकी पहुंचा।
8.25 बजे एसएसपी और डीएम घटनास्थल पर पहुंचे
8.35 तक होती रही नोकझोंक, अर्धसैनिक बल पहुंचा
9.00 बजे आयुष और आहान के शव निकाले गए, फोर्स घटनास्थल से लौटा
9.37 बजे सजिद की दुकान का शटर तोड़कर सामान निकाला और आग लगा दी।
9.45 बजे अर्धसैनिक बल और पुलिस फोर्स घटनास्थल पर लौटा
9.45 बजे फायर ब्रिगेड पहुंची। आग बुझाई गई।
हत्यारोपी का शव दिखाओ नहीं परिवार के साथ कर लूंगा आत्मदाह
बच्चों के पिता विनोद ने आईजी राकेश सिंह समेत पुलिस प्रशासन से कहा कि जिस हत्यारोपी को मुठभेड़ में मार गिराया है उसको दिखाओ । अगर नहीं दिखाया तो वह परिवार के साथ दिन निकलते ही आत्मदाह कर लेगा। पुलिस ने यह बात सुन विनोद को हत्यारोपी का शव दिखाने का आश्वासन दिया है। देर रात चौराहे पर बच्चों की मां और दादी बैठ गए और आरोपी की लाश दिखाने की मांग करने लगे थे। 

Comments

Popular posts from this blog

बाहुबली नेता एवं पूर्व विधायक के परिवार जनों पर फिर मारपीट और छेड़खानी का मुकदमा हुआ दर्ज, पुलिस जांच पड़ताल में जुटी

भाजपा के प्रत्यशियो की दसवीं सूची जारी, मछलीशहर से भी प्रत्याशी घोषित देखे सूची

लोकसभा चुनाव के लिए बसपा की चौथी सूची जारी, जानें किसे कहां से लड़ा रही है पार्टी, देखे सूची