हीटवेव शुरू होने के छठवें दिन जागा स्वास्थ्य विभाग, सीएमओ ने दी बचाव के लिए यह सलाह,अब तक आधा दर्जन मरने की खबर



जौनपुर। विगत 25 मई 24 से वातावरण हीटवेव की चपेट में आ गया है। जनपद में लगभग आधा दर्जन मौते  नौतपा के हीटवेव के चलते हो गई है। लेकिन जिले का स्वास्थ्य विभाग चुप मौन रहा ऐसा क्यों था यह तो विभाग के अधिकारी जाने लेकिन प्रदेश स्तर से लगातार स्वास्थ्य विभाग को सक्रिय होने का निर्देश जारी हो रहा था। हीटवेव के छठवें दिवस पर स्वास्थ्य विभाग हीटवेव से बचाव के लिए सक्रिय होते हुए अपनी सलाह और जानकारियां साझा किया है।
इस संदर्भ में मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने अवगत कराया है कि वर्तमान में जनपद में हीटवेब (लू) के चलते अत्यंत भीषण गर्मी पड़ रही है। हीटवेब से आम जनमानस एवं पालतू जानवरों के जीवन एवं स्वास्थ्य की रक्षा हेतु जन जागरूकता किये जाने की आवश्यकता है।
अत्यधिक गर्म एवं गर्म वातावरणीय दशा में शरीर द्वारा पसीना निकालकर बॉडी को ठण्डा करने की प्रकृया बाधित हो जाती है। कूलिंग सिस्टम डिस्टर्ब होने के कारण शरीर का तापमान 37C से अधिक होने लगता है जो कि सावधानी नहीं बरतने पर हीट स्ट्रोक का कारण बनता है।
लू लगने के लक्षण - सिरदर्द, मांसपेशियों में ऐंठन  (Cramp), हीट रैशेज (त्वचा पर लाल दाने), त्वचा का सूखापन (Dry Skin), उल्टी एवं चक्कर आना, भ्रम (Confusion), रैपिड पल्स तथा बेहोश होना,शरीर का तापमान  39.4 C (103 F) से अधिक हो जाना।

ऐसे में क्या करें- खूब पानी पियें,लस्सी, छाछ, निंबू पानी,आम का पना इत्यादि का खूब सेवन करें जिससे शरीर में पानी की पर्याप्त मात्रा बनी रहे। मौसम विभाग द्वारा जारी एलर्ट को ध्यान में रखें एवं जब तक स्थिति सामान्य नहीं हो जाती तब तक आकस्मिक परिस्थिति को छोड़कर घर से बाहर न निकलें। यदि निकलना ही पड़े तो 11 बजे से 3 बजे तक के बीच बाहर निकलने से बचें। बाहर निकलते समय छाता लें एवं तौलिया गमछा, टोपी इत्यादि अवश्य पहनें तथा पानी की बॉटल साथ रखें। शरीर पर पहने जाने वाले वस्त्र सूती कपड़े से बने हों, सम्पूर्ण शरीर को ढॅकने वाले एवं ढीले हों। शारीरिक श्रम करने वाले लोग 11 बजे से 03 बजे के बीच कार्य न करें। पालतू पशुओं को पर्याप्त मात्रा में पानी देते रहें एवं उन्हें ठण्डे स्थान पर रखें।
क्या न करें- तले भुने एवं मसालेदार खाद्य पदार्थों का सेवन न करें सुपाच्य एवं हल्का भोजन ही ग्रहण करें। दिन में 11 बजे से 03 बजे के बीच धूप में न निकलें। छोटे बच्चों को गाड़ी में दरवाजा बन्द करके न छोडें। नशीले पदार्थ,शराब एवं चाय,काफी का सेवन न करें।
हीट वेब से ग्रसित होने पर क्या करें- रोगी को तत्काल ठण्डे स्थान पर लिटा दें एवं शरीर का तापमान कम करने का प्रयास करें। शरीर पर गीले कपडें से स्पंजिंग करें तथा यदि रोगी मुॅह से पेय पदार्थ ले सकता हो तो उसे नमक, चीनी एवं पानी का घोल पिलाते रहें। रोगी को आराम न होने पर 108 नम्बर पर फोन कर एम्बुलेन्स को बुलाकर रोगी को तत्काल नजदीकी चिकित्सालय में ले जाकर इलाज करायें।
उन्होंने जनपदवासियों से अपील है कि उपरोक्तनुसार दिये गये सुझावों का पालन करें एवं हीट वेब के प्रति सतर्क एवं सावधान रहें जिससे जनपद वासियों को भीषण गर्मी के प्रकोप से बचाया जा सके।

Comments

Popular posts from this blog

सड़क दुर्घटना में सिपाही की मौत विभाग में शोक की लहर

एसपी जौनपुर ने फिर आधा दर्जन से अधिक थाना प्रभारियों का किया तबादला

जौनपुर जलालपुर थाने के नये थानेदार को सिर मुड़ाते ही पड़े ओले, रेहटी गांव में हत्या कर फेंकी लाश मिलने से इलाके में सनसनी