डीएम जौनपुर मनीष कुमार वर्मा के पिता के निधन पर लगा शोक संवेदनाओं का तांता,लोंगो ने नम आंखों दी अन्तिम विदायी



जौनपुर । जनपद के जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा के पिता मोहन प्रसाद वर्मा का आज शनिवार की सुबह वाराणसी के कैंसर हॉस्पिटल में निधन हो गया। वे लगभग 70 वर्ष के थे। विगत लगभग एक सप्ताह से उनका उपचार कैंसर इन्सटीच्यूट वाराणासी में चल रहा था। आधिकारिक सूत्रों के अनुसार मूलरूप से प्रदेश के कुशीनगर जिले के निवासी एवं वर्तमान में जौनपुर के जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा के पिता मोहन प्रसाद वर्मा लंबे समय से बीमार चल रहे थे। उनके पुत्र जिलाधिकारी जौनपुर ने उन्हें इलाज के लिए कैंसर अस्पताल वाराणसी में भर्ती कराया था जहां पर आज शनिवार की सुबह उनका निधन हो गया। 
 वाराणसी से शव को जौनपुर जिलाधिकारी आवास पर लाये जाने के बाद लोंगो के अन्तिम दर्शन के लिए रखा गया था। जनपद के तमाम प्रबुद्ध जनो सहित प्रशासनिक और न्यायिक अधिकारियों सहित पुलिस विभाग के अधिकारी गण डीएम के आवास पर पहुंच कर शोक संवेदना व्यक्त करते हुए श्रद्धासुमन अर्पित किया। 
शोक संवेदना व्यक्त करने वालों में मुख्य रूप से प्रदेश के आवास एवं शहरी नियोजन राज्यमंत्री गिरीश चंद यादव, जिला सत्र न्यायाधीश मदनपाल सिंह , प्रदेश के पुलिस महानिदेशक (अग्निशमन ) आर के विश्वकर्मा , भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं सदस्य विधान परिषद लक्ष्मण आचार्य, पूर्व सांसद के पी सिंह,
मडियाहू की विधायक डॉ लीना तिवारी,  बदलापुर के विधायक रमेश चंद्र मिश्रा, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय साहनी, सीएमओ सहित लगभग सभी राजनैतिक दलो के नेतागण, व्यापारी , अधिवक्ता, जनपद के पत्रकार गण एवं जिले के पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों एवं सभी विभागों कर्मचारी गण 
सहित बड़ी तादाद में प्रबुद्ध जनों ने जिला जिलाधिकारी आवास पर जाकर शोक संवेदना प्रकट की। इसके बाद शव को लेकर कुशीनगर उनके पैतृक आवास के लिए ले जाया गया जहां पर अंतिम संस्कार रविवार को किया जायेगा।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भाभी को अकेला देख देवर की नियत हुई खराबा, जानें फिर क्या हुआ, पुलिस को तहरीर का इंतजार

असलहा बनाने वाली फैक्ट्री का भंडाफोड़ बड़ी तादाद में मिले तमंचे, चार गिरफ्तार पहुंचे सलाखों के पीछे

घुस लेते लेखपाल रंगेहाथ गिरफ्तार, मुकदमा दर्ज कर एनटी करप्शन टीम ले गयी साथ