भ्रष्टाचारी इन अधिकारीयों के खिलाफ सीएम योगी आदित्यनाथ ने दिया विजिलेंस जांच का आदेश


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भ्रष्टाचार के मामले सामने आने पर कड़े एक्शन के मूड में आ गये है। इस क्रम में सीएम योगी आदित्यनाथ ने नियुक्ति विभाग में अनियमितता मिलने पर दो अनुभाग अधिकारी के खिलाफ सख्त कार्रवाई का निर्देश दिया है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर नियुक्ति व कार्मिक विभाग के दो अनुभाग अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई का निर्देश दिया है। सीएम योगी आदित्यनाथ के इस निर्देश पर इन दोनों के खिलाफ विजिलेंस जांच का आदेश दिया गया है। इसके बाद भी दोनों अभी अपने पद पर जमे हैं।

योगी आदित्यनाथ सरकार प्रदेश में किसी भी प्रकार के भ्रष्टाचार पर वार करने से चूक नहीं रही। मुख्यमंत्री के भ्रष्ट अधिकारियों के खिलाफ जीरो टॉलरेंस नीति के तहत प्रदेश सरकार के नियुक्ति विभाग के दो अफसरों के खिलाफ विजिलेंस जांच की जाएगी। प्रदेश सरकार को भेजी गई शिकायत में नियुक्ति विभाग के अनुभाग अधिकारी पर लम्बे समय से भ्रष्टाचार में संलिप्तता के साथ ही साथ ट्रांसफर-पोस्टिगं में वसूली कर अवैध संपत्ति बनाने का आरोप है।

इनमें से एक के पास लम्बे समय से आइएएस अधिकारियों की शिकायतों की जांच के साथ ही पीसीएस अफसरों के ट्रांसफर व जांच की जिम्मेदारी है। सीएम योगी आदित्यनाथ के इनके खिलाफ विजलेंस जांच के आदेश देने के बाद भी अभी तक दोनों अफसरों को नियुक्ति विभाग ने हटाया नहीं है।

इन दोनों के खिलाफ दो दर्जन से अधिक पीसीएस अफसरों से ट्रांसफर-पोस्टिंग के नाम पर वसूली का आरोप है। इन दोनों की शिकायत करने वाले लखनऊ के सीतापुर रोड निवासी संत कुमार ने बताया कि दोनों नियुक्ति व कार्मिक विभाग के अनुभाग 5 और 3 में तैनात हैं। इन पर अफसरों की अनुशासनिक कार्रवाई समाप्त करने की एवज में छह से आठ लाख रुपए लेने का आरोप हैं। शासन को भेजे गए शिकायत पत्र में नौ बिंदुओं के साथ अनुभाग अधिकारियों पर कई गंभीर आरोप लगाए गए हैं।  

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रातः काल तड़तड़ाई गोलियां, बदमाशों ने अखिलेश यादव की कर दिया हत्या,ग्रामीण जनों में घटना को लेकर गुस्सा

आज से लगातार 08 दिनों तक बैंक रहेंगे बन्द जानें इस माह में कितने दिवस होगे काम काज

यूपी के गांव में जमीनी विवाद खत्म करने के सरकार ने बनायी यह योजना,नहीं होगी मुकदमें की नौबत