सीजेएम ने थाना बक्शा तत्कालीन थानाध्यक्ष सहित पुलिस जनों के खिलाफ जारी किया वारंट



जौनपुर। जनपद के थाना बक्शा में विगत 11फरवरी को पुलिस कस्टगी में मृतक पुजारी यादव के मामले में आज सीजेएम कोर्ट ने बड़ी कार्यवाई करते हुए बक्शा थाने के तत्कालीन थानाध्यक्ष समेत नौ पुलिस कर्मियों के खिलाफ वारंट जारी किया है। सभी पुलिस घटना के पश्चात निलंबित होने के बाद फरार चल रहे है।      
बता दे कि बीते 11 फरवरी को बक्शा पुलिस की कस्टडी हुई पुजारी यादव के मौत हो गयी थी। इस केश की विवेचना कर रहे सीओ बदलापुर ने कोर्ट में प्रार्थना पत्र दिया कि कई स्थानों पर दबिश देने के बाद आरोपी पुलिस कर्मियों का पता नही चल रहा है। जिसके कारण विवेचना प्रभावित हो रही है। 
विवेचनाधिकारी के प्रार्थना पत्र देते हुए वारंट जारी करने की मांग किया जिस पर सीजेएम ने 
आरोपित बनाए गए तत्कालीन थानाध्यक्ष अजय कुमार सिंह, एसओजी प्रभारी पर्व कुमार सिंह, कांस्टेबल कमल बिहारी बिंद, जितेंद्र सिंह, राजकुमार वर्मा, श्वेत प्रकाश सिंह, राजन सिंह, जयशील प्रसाद तिवारी, अंगद प्रसाद चौधरी के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया है। 
यह बता दें कि बक्शा थाना क्षेत्र के चक मिर्जापुर निवासी अजय कुमार यादव ने सभी के खिलाफ एफआइआर दर्ज कराया था कि 11 फरवरी 2021 को दिन में दो बजे एसओजी टीम व थानाध्यक्ष अजय कुमार सिंह फोर्स के साथ मेरे घर पर आए और मेरे भाई कृष्ण कुमार यादव उर्फ पुजारी को पकड़कर थाने ले गए। मेरे भाई के विरुद्ध कोई आपराधिक मुकदमा किसी थाने में दर्ज नहीं था। पुलिस कर्मी भाई को फर्जी मुकदमे में फंसाने की नीयत से थाने पर बैठाए थे। रात आठ बजे थानाध्यक्ष अजय कुमार सिंह व करीब दस की संख्या में पुलिसकर्मी वादी के घर में घुसकर बक्शे का ताला तोड़कर 60,000 रुपये व सामान उठा ले गए। मना करने पर महिलाओं को गालियां दी।

टिप्पणियाँ

  1. इन सभी दोसियो को जुर्माना 100000
    और फांसी की सजा देनी चाहिए
    ताकि एसी घटना और न होने पाएं

    जवाब देंहटाएं

एक टिप्पणी भेजें

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रातः काल तड़तड़ाई गोलियां, बदमाशों ने अखिलेश यादव की कर दिया हत्या,ग्रामीण जनों में घटना को लेकर गुस्सा

सीएम योगी का चुनावी वादा बिजली बिल बकाये को लेकर दिया यह आदेश

आज से लगातार 08 दिनों तक बैंक रहेंगे बन्द जानें इस माह में कितने दिवस होगे काम काज