जानिए जौनपुर के छह मछुआरे कैसे पहुँचे पाकिस्तान की जेल, छुड़ाने के लिए गृह मंत्रालय को अर्जी


जौनपुर। परिवार की परवरिश करने के उद्देश्य से 
घर से गुजरात कमाने गये आठ युवक जरा सी लापरवाही के चलते पाकिस्तान की जेल में पहुंच गए हैं। वे गुजरात में समुद्र में मछली पकड़ने के दौरान लापरवाही बस नाव लेकर जल सीमा का उल्लंघन कर गये और पाकिस्तान की सीमा में प्रवेश कर गए थे। वहां पाकिस्तानी सेना ने उनको गिरफ्तार कर लिया है।
पकड़े गए युवकों में छह जौनपुर जिले के मछलीशहर कोतवाली क्षेत्र के रहने वाले हैं, जबकि दो सीमावर्ती जिले के हैं। सभी को छुड़ाने के लिए आजाद पार्टी के मंडल प्रभारी एसपी मानव ने जिलाधिकारी के माध्यम से गृह मंत्रालय को पत्र भेजकर गुहार लगाई है।
खबर है जिले के मछलीशहर कोतवाली क्षेत्र के चौबेपुर गांव निवासी राजनाथ बिंद पुत्र बच्चू, बसिरहा गांव निवासी विनोद कुमार बिंद, नंदापुर गांव के लालमणि बिंद, देवरिया गांव के राजनाथ, नंदापुर गांव के सुरेश बिंद अपने रिश्तेदार भदोही जनपद के नीरज बिंद और सुल्तानपुर जिले के अभयराज के साथ पिछले साल अगस्त में रोजी रोटी के सिलसिले में गुजरात गए थे।
वहां सभी लोग एक ठेकेदार के लिए समुद्र में मछली पकड़ने का कार्य कर रहे थे। 8 फरवरी को वह भटक कर नाव से पाकिस्तान की जल सीमा में प्रवेश कर गए। इसके बाद इन सभी को पाकिस्तानी सेना ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। गांव के लोगों को इसकी जानकारी गुजरात के एक अखबार में खबर छपने पर हुई, जिसके बाद सभी के घरों में कोहराम मच गया है।
अब इन गरीबों के परिवार वालों का सहारा बनने के लिए आजाद समाज पार्टी सामने आई है। इस पार्टी के वाराणसी मंडल के प्रभारी एसपी मानव ने पीड़ितों के परिजनों को लेकर जिलाधिकारी से मुलाकात की। सभी को जेल से छुड़ाने के लिए जिलाधिकारी के माध्यम से गृह मंत्रालय को भेजने के लिए पत्र सौंपा है।  

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भाभी को अकेला देख देवर की नियत हुई खराबा, जानें फिर क्या हुआ, पुलिस को तहरीर का इंतजार

घुस लेते लेखपाल रंगेहाथ गिरफ्तार, मुकदमा दर्ज कर एनटी करप्शन टीम ले गयी साथ

सिद्दीकपुर में चला सरकारी बुलडोजर मुक्त हुई 08 करोड़ रुपए मालियत की सरकारी जमीन