प्रजातंत्र में वोट ही सबकुछ इसलिए मतदान जरुर करें - एल वेंकटेश्वर लू


जौनपुर।मतदाता जागरूकता कार्यक्रम के अन्तर्गत सुनियोजित शिक्षा एवं मतदाता सहभागिता कार्यक्रम का आयोजन आज संगोष्ठी भवन पूर्वांचल विश्वविद्यालय में आयोजित किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि एल वेंकटेश्वर लू महानिदेशक उत्तर प्रदेश प्रशासन एवं प्रबन्धन अकादमी एवं राज्य ग्राम विकास संस्थान लखनऊ ने प्रतिभाग किया। कार्यक्रम का शुभारम्भ मुख्य अतिथि द्वारा दीप प्रज्जवलित कर किया गया। जनक कुमारी इन्टर कालेज की छात्राओं ने स्वागत गीत व मतदाता जागरूकता गीत प्रस्तुत किया।
मुख्य विकास अधिकारी/स्वीप प्रभारी अनुपम शुक्ला ने अतिथियों का स्वागत करते हुए स्वीप के अन्तर्गत अब तक किये गए कार्यक्रमो की रूपरेखा प्रस्तुत किया। दिव्यांग आईकान राहुल गुप्ता व सविता बैरागी ने वोट करेगा जौनपुर गीत गाकर सभी को बहुत आकर्षित किया।
 मुख्य अतिथि ने कहा कि मजबूत एवं स्वस्थ लोकतंत्र/प्रजातंत्र के लिए मतदान करना अत्यन्त आवश्यक है। प्रजातंत्र में वोट ही सबकुछ है। शासन व्यवस्था में सबसे बेस्ट प्रजातंत्र है। उन्होने कहा कि हमारे धार्मिक ग्रंथों का भी सार दान ही है। उन्होने कहा कि पढ़ें लिखे इलाकों में मतदान प्रतिशत कम है। इनके अन्दर देश समाज के प्रति भावना कम है। देश आपको क्या दे रहा है ये मत पूछो, आप देश के लिए क्या दे रहें हों ये देखो। उन्होने कहा कि वोट न डालना पाप है। दान करने से पुन्य मिलेगा, और मतदान से बड़ा कोई दान नही होता है।
उन्होंने कहा कि क्या कारण हैं कि यहां मतदान प्रतिशत कम होता है, इसकी समीक्षा करते हुए हर मतदाता को मतदान करने के लिए जागरूक करे व प्रेरित करें। उन्होंने कहा कि यदि मतदाता को प्रत्याशी पसंद नही है तो घर से बाहर निकलकर मतदान केन्द्र पर अवश्य जायें और नोटा का बटन दबायें। उन्होने कहा कि यदि प्रत्याशी अच्छा नही होगा तो उसके विरूद्ध नोटा का बटन दबाकर मतदान करने से आगे भविष्य में राजनैतिक दल अच्छे प्रत्याशी को ही टिकट देगी। उन्होने कहा कि मतदाता जितना जागरूक होगा, व्यवस्था उतनी ही मजबूत होगी। देश की मजबूती एवं प्रजातंत्र के लिए मतदान करना ही होगा। जितनी अच्छी व्यवस्था चाहिए उतना वोट में परिलक्षित होना है।
जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा ने कहा कि यदि अपने स्वास्थ्य को सही ढंग से रखने के लिए कोविड का वैक्सीनेशन शत प्रतिशत लगवा सकते हैं तो मजबूतध्स्वस्थ लोकतंत्र के लिए शत प्रतिशत मतदान क्यों नही कर सकते हैं। उन्होंने जनपद वासियों से अपील किया कि 7 मार्च को मतदान जरुर करें। मतदान समाज में सुधार की प्रक्रिया है। उन्होंने मुख्य अतिथि को आश्वस्त करते हुए कहा कि आपके मार्ग दर्शन में हम सभी जिला प्रशासन के लोगों द्वारा पिछले मतदान प्रतिशत की अपेक्षा इस बार मतदान प्रतिशत को बढ़ाने के लिए शत प्रतिशत प्रयास किया जा रहा है।
अपर जिलाधिकारी राम प्रकाश ने कहा कि जनपद का जेंडर रेशियों काफी बढ़ा है, अब सभी मतदाताओं की जिम्मेदारी है कि अच्छी भावना, सोच के साथ प्रजातंत्र को मजबूत करने के लिए मतदान करें। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी डा गोरखनाथ पटेल ने कहा कि कहा कि अपने संविधान के मूल कर्तव्य को निभाएं, प्रतिफल अवश्य मिलेगा। उन्होने कहा कि मतदान जितना शुद्ध व अधिक होगा, लोकतंत्र उतना ही मजबूत होगा।इस अवसर पर बच्चों द्वारा पोस्टर, व रंगोली बनाकर मतदाताओं को प्रेरित किया गया तथा कार्यक्रम स्थल पर मतदाता को आकर्षित करने हेतु सेल्फी प्वाइंट लगाये गये थे।
 मतदाता जागरूकता अभियान को बेहतर ढंग से करने के लिए जिला विद्यालय निरीक्षक आर के पंडित, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी डा गोरखनाथ पटेल, जिला कार्यक्रम अधिकारी आर बी सिंह, विश्वविद्यालय एनएसएस समन्वयक डॉ राकेश कुमार यादव, रेडक्रास सोसाइटी, जेसीआई, लायन्स क्लब मेन, पेट्रोलियम डीलर एसोसिएशन, बीएलओ सरिता सिंह को प्रशस्ति पत्र प्रदान कर सम्मानित किया।
अन्त में जिलाधिकारी ने लोगों को मतदाता की शपथ दिलाई। इस अवसर पर प्रदीप सिंह, शैलेश चतुर्वेदी, सरिता सिंह ने भी सम्बोधित करते हुए मतदाताओं को मतदान करने हेतु जागरूक किया। संचालन निपुण श्रीवास्तव ने किया। इस अवसर पर जिला विकास अधिकारी बी बी सिंह, जिला स्वीप कोआर्डिनेटर सैय्यद मोहम्मद मुस्तफा, डीसी एनआरएलएम ओ पी यादव, डी सी मनरेगा, डीपीआरओ, डीएसओ, खण्ड शिक्षा अधिकारी, सहित शिक्षक, आंगनबाड़ी, आशा, महिला समूह सदस्य, रोजगार सेवक, कालेज के छात्र छात्राएं, एससीसी व एनएसएस के युवा आदि उपस्थित रहे।
                                                    

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भाभी को अकेला देख देवर की नियत हुई खराबा, जानें फिर क्या हुआ, पुलिस को तहरीर का इंतजार

घुस लेते लेखपाल रंगेहाथ गिरफ्तार, मुकदमा दर्ज कर एनटी करप्शन टीम ले गयी साथ

सिद्दीकपुर में चला सरकारी बुलडोजर मुक्त हुई 08 करोड़ रुपए मालियत की सरकारी जमीन