अग्निपथ योजना के विरोधियों द्वारा भारत बन्द के आह्वान पर पूरे दिन गस्तरत रहे पुलिस और प्रशासन के लोग


जौनपुर। भारतीय सेना में भर्ती को लेकर अग्निपथ योजना के विरोध में उग्र प्रदर्शनों के बीच आज अग्निवीरो द्वारा भारत बंद के आह्वान पर जिला एवं पुलिस प्रशासन खासा एलर्ट नजर आया। हलांकि जनपद में इसका असर तो नहीं दिखा। लेकिन पुलिस और पीएसी बल के साथ पुलिस के अधिकारी स्टेशन से लगायत रोडवेज सहित सभी संवेदनशील स्थानो पर मार्च करते हुए पहरेदारी की गयी है।
लोंगो से अफवाहो से बचने की अपील करते हुए रेलवे स्टेशन एवं रोडवेज पर बड़ी तादाद में पुलिस बल तैनात रखा गया। इसके अलांवा जिले की सीमाओ पर को भी शील करते हुए पुलिस का पहरा लगाया गया था। कस्बो बाजारो में प्रशासनिक अधिकारियों के साथ पुलिस के अधिकारी गण गस्तरत रहे।रोडवेज की बसों पर सुबह के समय संचालन पर असर दिखा लेकिन दोपहर जब पुलिस मार्च पर निकली तो बसों का भी संचालन शुरू हो गया।
पुलिस के अधिकारी जनपद मुख्यालय पर स्थित दोंनो रेलवे स्टेशन सिटी और जौनपुर जंक्शन पर बड़ी संख्या में मार्च करते रहे इसलिए आन्दोलन कारी स्टेशन के आसपास नहीं नजर आए है। हलांकि कि गत दिवस जौनपुर में तोड़फोड़ और आगजनी की घटना से पुलिस खासी सक्रीय नजर आयी है। इसलिए आन्दोलन कारी कहीं भी नजर नहीं आये। खुद जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा और पुलिस अधीक्षक अजय कुमार साहनी क्षेत्र में भ्रमण रत रहते हुए पूरी व्यवस्था की मानीटरिंग करते नजर आये है।जिलाधिकारी ने कहा कि बाजरो कस्बो और स्टेशन तथा रोडवेज पर लगे अधिकारी एवं पुलिस के अधिकारी सभी लोगो को अफवाहों से बचने और दूर रहने की सलाह देते रहे है। 
खबर है कि गस्तरत पुलिस टीम विरोधियों की तलाश में होटलो और हर एक संदिग्ध की तलाश करते रहे। पुलिस का दावा है कि अभी तक 300 से अधिक उपद्रवियों को जेल भेजा जा चुका है। इसी क्रम में यह भी खबर मिली है कि शोसल मीडिया के जरिये अफवाह फैलाने वाले 17 लोंगो के खिलाफ विधिक कार्यवाई की जा रही है। अब लगातार शोसल मीडिया की मानीटरिंग शुरू हो चुकी है। जो भी अफवाह फैलायेगा उसके खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई होगी।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मेदांता में इलाज करा रहे इस आईएएस अधिकारी का हुआ निधन

थाना चन्दवक की वसूली लिस्ट वायरल होने पर एक बार फिर सुर्खियों में पुलिस जांच शुरू

जौनपुर में फिर तड़तड़ायी गोलियां एक युवक गम्भीर रूप से घायल बदमाश फरार, पुलिस अंधेरे में चला रही छानबीन की तीर