सपा विधायक बाहुबली नेता रमाकांत की बढ़ी मुश्किल, अब जेल से बाहर निकल पाना कठिन जानें क्या होगी अड़चन


पूर्व सांसद एवं सपा विधायक बाहुबली नेता रमाकांत यादव का नाम माहुल जहरीली शराब कांड में आने के बाद अब यह संकेत मिलने लगा है कि उनका जेल से बाहर निकल पाना मुश्किल है। जनपद आजमगढ़ से एक बड़ी खबर सामने आई है। माहुल जहरीली शराब कांड के मास्टर माइंड तक पुलिस पहुंच चुकी है। भांजा रंगेज नहीं बल्कि मामा बाहुबली विधायक रमाकांत यादव ही इसका मास्टरमाइंड है। ऐसा पुलिस की विवेचना में इसकी पुष्टि हुई है। जेल में बंद विधायक रमाकांत यादव को आज कोर्ट ने 14 दिन के लिए पुलिस रिमांड में भेज दिया। 
आजमगढ़ एसपी अनुराग आर्य ने बताया कि विवेचना के दौरान रमाकांत यादव का नाम माहुल जहरीली शराब कांड में सामने आया है। न्यायालय से पुलिस को 14 दिनों की रिमांड मिल गई है। अब उससे पूछताछ होगी। इस मामले में अब तक छह आरोपियों पर रासुका और 13 पर गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई हो चुकी है। अभी विवेचना चल रही है। जिसका भी नाम प्रकाश में आएगा उस पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।
यहां बता दे आजमगढ़ नगर पंचायत के माहुल में इसी वर्ष फरवरी में जहरीली शराब के कारण 13 से अधिक लोगों की मौत हुई थी। कई लोगों की आंखों की रोशनी चली गई थी। बाहुबली विधायक रमाकांत यादव के भांजे रंगेश की माहुल स्थित सरकारी देसी शराब की दुकान से जहरीली शराब बेची गई थी।
पुलिस ने इस मामले में 25 से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया। जिसमें विधायक रमाकांत यादव का भांजा रंगेश यादव भी शामिल है। विवेचना शुरू होने के पहले तक रंगेश  को ही इसका मास्टरमाइंड माना जा रहा था। रमाकांत पर पुलिस को शक तो था लेकिन साक्ष्य के अभाव में पुलिस उनके गिरेबां तक नहीं पहुंच पा रही थी।
पांच दिन पहले एक पुराने मामले में कोर्ट में जमानत के लिए अर्जी लगाने आए पूर्व सांसद व बाहुबली विधायक रमाकांत यादव को न्यायालय के निर्देश पर जेल भेज दिया गया था। दो दिन पूर्व उन्होंने जमानत के लिए अर्जी लगाई तो दो मामलों में उनकी जमानत मंजूर हुई तो 307 के एक मामले में उनकी जमानत अर्जी खारिज कर दी गई। इस बीच माहुल जहरीली शराब कांड में चल रही विवेचना के दौरान पुलिस के हाथ कुछ ऐसे साक्ष्य लग गए हैं, जिसने रमाकांत यादव की मुश्किलों को बढ़ा दिया है। मिले साक्ष्य के आधार पर इस बात की पुष्टि हो गई है कि भांजा रंगेश नहीं बल्कि रमाकांत यादव ही जहरीली शराब कांड के मास्टरमाइंड हैं।
इसके बाद पुलिस रमाकांत पर शिकंजा कसने की कवायद में जुट गई। न्यायालय में रमाकांत को रिमांड पर लेने के लिए पुलिस ने अर्जी लगाई गई थी। जिस पर पुलिस को 14 दिनों की रिमांड भी मिल गई है।
बाहुबली नेता रमाकांत यादव वर्तमान में फूलपुर-पवई विधान सभा सीट से समाजवादी पार्टी के विधायक हैं। इसके पहले वो पांच बार विधायक और  चार बार आजमगढ़ सीट से सपा, बसपा व भाजपा के टिकट पर सांसद भी चुने जा चुके हैं। रमाकांत यादव की पहचान बाहुबली के रूप में है। वर्तमान में रमाकांत पर कुल सात मुकदमे दर्ज हैं। दो दिनों पूर्व रमाकांत को चुनाव आयोग वाले मामले में जमानत मिल गई लेकिन फूलपुर तहसील घेराव व अंबारी चौक पर फायरिंग की घटना मामले में जमानत अर्जी निरस्त कर दी गई। अब माहुल जहरीली शराब में मास्टरमाइंड के रुप में चिन्हित होने के बाद इनका जल्द जेल से बाहर आना मुश्किल होगा। 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हर रात एक छात्रा को बंगले पर भेजो'SDM पर महिला हॉस्टल की अधीक्षीका ने लगाया 'गंदी डिमांड का आरोप; अधिकारी ने दी सफाई

यूपी कैबिनेट की बैठक में जौनपुर की इस नगर पालिका के विस्तार का प्रस्ताव स्वीकृत

जफराबाद विधायक का खतरे से बाहर डाॅ गणेश सेठ का सफल प्रयास, लगा पेस मेकर