अशोका इंस्टीट्यूट में मनाया गया स्वतंत्रता दिवस,संस्थान छात्रो के उज्जवल भविष्य के लिए है सतत प्रयत्नशील


पहड़िया स्थित अशोका इंस्टीट्यूट आफ टेक्नोलाजी एण्ड मैनेजमेंट में स्वतंत्रता दिवस बड़े ही हर्ष और उल्लास के साथ मनाया गया। स्वतंत्रता दिवस के 77वे वर्षगांठ पर संस्थान में मुख्य अतिथि काशीरत्न हीरालाल मौर्य के साथ अशोका इंस्टीट्यूट के संस्थापक ई0 अशोक कुमार मौर्य, चेयरमैन ई0 अंकित मौर्य, वाइस चेयरमैन अमित मौर्य, निदेशक डा0 सारिका श्रीवास्तव, निदेशक फार्मेसी डा0 बृजेश सिंह, प्रिंसिपल अशोका स्कूल आफ बिजनेस प्रो0 सी0पी0मल, प्रो0 एस0के0शर्मा, डीन एस0एस0कुशवाहा एवं रजिस्ट्रार ई0 असीम देव द्वारा झण्डारोहण करके कार्यक्रम की शुरूआत हुई। 
स्वतंत्रता दिवस के इस अवसर पर मुख्य अतिथि द्वारा स्वतंत्रता के महत्व के बारे बताते हुए आजादी के 76 वर्ष पुरे होने और 77वें वर्षगांठ की शुभकामनाएं दिये और कहा कि यह दिन प्रत्येक भारतीय के लिए एक अहम दिन है इसके लिए सभी स्वतंत्रता सेनानियों के द्वारा दिये गये बलिदानों को याद किया और उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए यह भी कहा कि प्रत्येक भारतीय को अपने देश के प्रति समर्पण की भावना होना चाहिए। 
इस अवसर पर संस्थान के चेयरमैन ई0 अंकित मौर्य द्वारा सर्वप्रथम सभी अधिकारियों, कर्मचारियों एवं देश वासियों को आजादी के इस 77वें वर्षगांठ पर ढेर सारी बधाई दिये और कहा कि संस्थान लगातार छात्रों के उज्जवल भविष्य हेतु तत्पर है और उनके उच्च शिक्षा के लिए हर सम्भव प्रयास कर रहा है चाहे वह ट्रेंनिग, रिसर्च, तकनीकी इत्यादि से सम्बन्धित हो। अन्त में पुनः सभी स्वतंत्रता दिवस की बधाई देते हुए अपने शब्दों को विराम दिये।  
आज के इस पावन अवसर पर संस्थान की निदेशक डा0 सारिका श्रीवस्तव द्वारा शिक्षकों एवं छात्रों के देश एवं समाज के उत्थान में अपना योगदान देने के लिए प्रेरित किया। इस अवसर पर संस्थान के सभी विभागों के विभागाध्यक्ष श्री राजेन्द्र तिवारी, डा0 अभिषेक कुमार, ई0 प्रशान्त गुप्ता, डा0 प्रीति कुमारी, ई0 राजीव यादव, ई0 सोमेन्द्र बनर्जी, डा0 सौम्या श्रीवास्तव, ई0 अर्जुन कुमार, डा0 अश्वमेध मौर्य , श्री विशाल गुप्ता  के साथ सभी शिक्षकगणए कर्मचारी एवं छात्र छात्राएं उपस्थित थे ।

Comments

Popular posts from this blog

जौनपुर में चुनावी तापमान बढ़ाने आ रहे है सपा भाजपा और बसपा के ये नेतागण, जाने सभी का कार्यक्रम

अटाला मस्जिद का मुद्दा भी अब पहुंचा न्यायालय की चौखट पर,अटाला माता का मन्दिर बताते हुए परिवाद हुआ दाखिल

मछलीशहर (सु) लोकसभा में सवर्ण मतदाताओ की नाराजगी भाजपा के लिए बनी बड़ी समस्या,क्या होगा परिणाम?