जौनपुर: मुख्यालय पर सीएम के कार्यक्रम के चलते 01मई को वाहनो के पार्किंग और रूट की जानें क्या है व्यवस्था

जौनपुर। मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश सरकार के कार्यक्रम को दृष्टिगत रखते हुए पुलिस प्रशासन ने 01मई 23 को रोड व पार्किंग व्यवस्था करते हुए वाहनो के रूट को परिवर्तित कर चलाने का निर्णय लिया है। इस आशय की जानकारी देते यातायात निरीक्षक बताया है कि यातायात व्यवस्था को सुचारू रूप से संचालित रखने के लिए उपरोक्त व्यवस्था बनायी गई है।
1. कार्यक्रम स्थल बीआरपी मैदान में आयोजित सभा में शामिल होने वाले समस्त वीआईपी जैसे सांसद गण, विधायक गण, संगठन के पदाधिकारी व ब्लाक प्रमुख इत्यादि की गाड़ियां जेसीस चौराहे के पास स्थित ग्राउंड में  पार्किंग की जाएंगी
2 - बदलापुर की तरफ से, सिकरारा की तरफ से ,मड़ियाहूं की तरफ से ,तथा बनारस की तरफ से आने वाले सभी बड़े वाहन (बस इत्यादि) वाजिदपुर तिराहातिराहा के निकट
टीडी कॉलेज के बड़े ग्राउंड में पार्क किए जाएंगे 
3 - आजमगढ़ रोड की तरफ से शाहगंज रोड की तरफ से वह केराकत की ओर से आने वाले समस्त बड़े वाहन (बस इत्यादि) शास्त्री पुल से पहले राज्यमंत्री कार्यालय के सामने स्थित बड़े ग्राउंड में पार्क किए जाएंगे
4 - उपरोक्त रोड से आने वाले सभी छोटे वाहन शास्त्री पुल से पार करते हुए जेसीज चौराहा के पास स्थित प्राइवेट बस अड्डा के बगल में  पार्क किए जाएंगे
5- वाराणसी की ओर से मड़ियाहूं की ओर से आने वाले समस्त छोटे वाहन जो कि कार्यक्रम में शामिल होने वाले कार्यकरता है उनकी गाड़ियां टीडी कालेज के दक्षिणी गेट से प्रवेश कर गेट से लगा हुआ व्यायामशाला ग्राउंड में  पार्क किए जाएंगे
6- साथ ही इस दिशा से आने वाले मोटरसाइकिल चालक अपनी मोटरसाइकिल टीडी कॉलेज के दक्षिणी गेट होते हुए अंदर स्थित हॉकी ग्राउंड में मोटरसाइकिल पार्क करेंगे
कार्यक्रम के दिन शास्त्री पुल का आधा भाग सिपाह की ओर से वाजिदपुर की ओर आने के लिए ही प्रयोग किया जाएगा अर्थात वन वे ट्रैफिक व्यवस्था लागू होगी
वाजिदपुर की ओर से आजमगढ़ - शाहगंज की ओर जाने वाले छोटे वाहन जैसीस से बाय मुड़कर सद्भावना पुल होते हुए अशोक टॉकीज  किला तिराहा - मानिक चौक होते हुए  शिपाह निकलेंगे जब तक पूर्ण रूप से पुल नहीं बन जाता तब तक पुल में वन वे ट्रैफिक व्यवस्था लागू रहेगी।

Comments

Popular posts from this blog

जौनपुर में चुनावी तापमान बढ़ाने आ रहे है सपा भाजपा और बसपा के ये नेतागण, जाने सभी का कार्यक्रम

अटाला मस्जिद का मुद्दा भी अब पहुंचा न्यायालय की चौखट पर,अटाला माता का मन्दिर बताते हुए परिवाद हुआ दाखिल

मछलीशहर (सु) लोकसभा में सवर्ण मतदाताओ की नाराजगी भाजपा के लिए बनी बड़ी समस्या,क्या होगा परिणाम?