जिला कारागार में सज़ायाफ्ता कैदी की मौत, परिजनों जेल प्रशासन पर लगाया लापरवाही का आरोप



जौनपुर। जिला कारागार में बंद सज़ायाफ्ता कैदी की बीमारी के चलते मौत हो गई। कैदी के मौत की खबर मिलते ही जेल प्रशासन में हड़कम्प मच गया । दूसरी तरफ यह खबर कैदी के परिवार वालो को हुई तो कोहराम मच गया है। परिवार वाले मौत के लिए जेल प्रशासन को जिम्मेदार मान रहे है। 
रामपुर थाना क्षेत्र के बानीडीह गांव का निवासी बागीश मिश्र उर्फ सरपंच को बीते छह जनवरी को थाना रामपुर में दर्ज एक हत्या के मामले में आजीवन कारावास की सज़ा हुई थी। जिला कारागार के जेलर ने बताया कि कल रात कैदी की तबीयत अचानक खराब हो गई तो पहले उसे जेल की अस्पताल में भर्ती किया गया। हालत में सुधार न होने पर उसे आज  जिला अस्पताल भेजा गया, अस्पताल पहुंचने से पहले रास्ते में ही उसकी मौत हो गई है।
कैदी के मौत की खबर मिलते ही उसके परिजन भी यहां पहुंच गये और जेल प्रशासन की लापरवाही के कारण बागीश की मौत होने का आरोप लगाया है। मृतक कैदी के भाई अनिल मिश्रा का कहना है कि समय से उसका उपचार नहीं कराया गया। यदि समय से अस्पताल भेजा गया होता तो बचाया जा सकता था। कैदी के मौत की जांच होनी ताकि जिम्मेदार को दन्ड मिल सके।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सपा ने पहले फेज के चुनाव हेतु प्रत्याशियों की जारी की सूची इन लगाया दांव

यूपी: भाजपा ने जारी किया पहले और दूसरे चरण में चुनाव के प्रत्याशियों की सूची,योगी जी लड़ेंगे गोरखपुर से ,देखे सूची

आइए जानते है मुन्ना बजरंगी के भाई को पुलिस ने क्यों किया गिरफ्तार