शराबी पति ने पत्नी सहित अपने तीनो मासूम बेटो की हत्या कर खुद पीया जहर , पुलिस जांच में जुटी




कुशीनगर के कसया थानाक्षेत्र में एक शराबी युवक ने पत्नी के साथ तीन मासूम बेटों का धारदार हथियार से गला रेत कर मार डाला। बाद में उसने खुद भी जहर पी लिया। पुलिस ने चारों शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। मौके पर एसपी सचिन्द्र पटेल की मौजूदगी में फोरेंसिक टीम ने पड़ताल शुरू करा दी है। गोपालपुर टोला निवासी जितेन्द्र कुशवाहा राजगीर मिस्त्री का काम करता है। वह मां राजपति व पिता बिरझन से अलग कटरैन के कमरे में रहता था। घटनास्थल के पास पहुंची पुलिस गुरुवार को दोपहर 12 बजे तक जब जितेन्द्र के घर में कोई हलचल नहीं हुई तो विकलांग मां किसी तरह खुद उसके घर तक पहुंची तो दरवाजा अंदर से बंद था। उसने चिल्लाना शुरू किया। प्रतिक्रिया नहीं हुई तो वह दरवाजे के होल से झांक कर देखा। पत्नी लीलावती (31), बेटे आकाश (8), विकास (6) व निखिल (4) खून से लथपथ थे। गांव के लोग बाहर से दीवार पर चढ़े और कटरैन तोड़ कर देखा जिसके बाद लोगों ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने दरवाजा तोड़ा तो अंदर दो तख्तों पर तीन बच्चों की लाश पड़ी थी। नीचे लीलावती की लाश पड़ी थी। जितेन्द्र अचेत था और उसके मुंह से झाग निकल रहा था। 
पुलिस ने जितेन्द्र को इलाज के लिए अस्पताल भेजा। एसपी कुशीनगर सचिन्द्र पटेल का कहना है कि हृदयविरक घटना है। महिला व तीन बेटों की गला रेत कर हत्या की गयी गयी है। गृहस्वामी अचेत मिला है उसके मुंह से झाग निकला था उसे अस्पताल भेजा गया है। उस पर चोट के निशान नहीं हैं। फोरेंसिक टीम पहुंच गयी है। साक्ष्य कलेक्ट कराया जा रहा है। जांच पड़ताल के बाद जल्द ही पुलिस किसी नतीजे पर पहुंच जाएगी। शराब छोड़ने का वादा कर परिवार लाया था परिवार के लोगों के मुताबिक, जितेन्द्र के शराब पीने की आदत के चलते हमेशा विवाद होता था। इसी विवाद के बीच रक्षाबंधन से एक दिन पहले लीलावती बच्चों को लेकर मायके गयी थी। बुधवार को जितेन्द्र पत्नी व बच्चों को लाने ससुराल कसया थाना क्षेत्र के ही विश्वंभरपुर माधोपुर मठिया पहुंचा तो ससुर व सालों ने उसे शराब की लत छोड़ने का दबाव बनाया। शराब छोड़ने का वादा कर पति बच्चों के साथ वह बुधवार की शाम को ही लौटा था।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

अब से राशन मिलना बंद, पूरे 4 महीने के लिए लगी राशन पर रोक, जानें क्या है कारण

पूर्वांचल के रास्ते यूपी में जानें कब प्रवेश कर सकता है मानसून, भीषण गर्मी से मिलेगी निजात

सीएम योगी के एक ट्वीट से लखनऊ का नाम बदलने की सुगबुगाहट, जानें क्या हो सकता है नया नाम