जौनपुर के इन 11 राजकीय विद्यालयो ने बोर्ड की परीक्षा कराने से किया इनकार,जानें कारण


जौनपुर। संसाधन के अभाव में जिले के राजकीय विद्यालयों की स्थिति ठीक नहीं है। हालत यह है कि कुछ विद्यालयों को छोड़कर शेष स्कूल बोर्ड परीक्षा कराने से भी हाथ खड़ा कर दे रहे हैं। जिले में 32 राजकीय विद्यालयों में से 14 को परीक्षा केंद्र बनाया गया था। इसमें से 11 विद्यालयों ने परीक्षा कराने से इनकार कर दिया है। डीआईओएस को आपत्ति पत्र देकर परीक्षा केंद्र की सूची से नाम कटवाने की सिफारिश की है। केवल तीन राजकीय विद्यालय बोर्ड परीक्षा कराने के लिए तैयार है
बोर्ड परीक्षा के लिए जिले में 221 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। इसमें 14 राजकीय विद्यालयों को शामिल किया गया था। परीक्षा केंद्र बनने के बाद 307 आपत्तियां आई थी। इसमें 11 राजकीय कालेज भी शामिल थे। इस विद्यालयों का कहना है कि उनके पास संसाधन का अभाव है। इसके चलते वह परीक्षा नहीं करा सकते हैं। जिला विद्यालय निरीक्षक ने सभी आपत्तियों की जांच कर निस्तारण के लिए जिला स्तरीय समिति के अध्यक्ष व डीएम को सौंप दिया है। डीएम सभी तहसीलों के एसजीएम से परीक्षा केंद्रों का स्थलीय निरीक्षण करा रहे हैं। देखना यह है कि इन 11 राजकीय विद्यालयों का नाम काटने के बाद परीक्षा केंद्रों की सूची में किन विद्यालयों को शामिल किया जाता है।
बोर्ड परीक्षा केंद्र की सूची से नाम हटवाने के लिए जिले के 11 राजकीय विद्यालयों ने आपत्तियां दर्ज कराई है। राजकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय डिहियां, राजकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय भकुरा, राजकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय तियरा, राजकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय मई जलालपुर, राजकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय पसेवां मुफ्तीगंज, राजकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय सवायन सुईथा, राजकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बदलापुर खूर्द, राजकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बबुरी गांव, राजकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय मंवई सोंधी, राजकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय पचवर केराकत और राजकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय गयासपुर सिरकोनी शामिल हैं।
परीक्षा केंद्र को लेकर आई हैं 307 आपत्तियां
जौनपुर। केेंद्रों को लेकर कुल 307 आपत्तियां आईं हैं। दूरी को लेकर 134, क्षमता से अधिक परीक्षार्थियों का आवंटन किए जाने पर 23 और नए परीक्षा बनाने की मांग को लेकर 135 स्कूलों ने आपत्तियां दी हैं। परीक्षा केंद्र कटवाने के लिए राजकीय विद्यालयों समेत कुल 15 स्कूलों ने आपत्ति दाखिला किया है।
परीक्षा केंद्र को लेकर 307 विद्यालयों ने आपत्तियां दर्ज कराई हैं। इसके बाबत सह जिला विद्यालय निरीक्षक राजीव रंजन मिश्र कहते है कि सभी आपत्तियां जनपदीय समिति के अध्यक्ष व डीएम को भेज दी गई हैं। अध्यक्ष अपने स्तर से जांच कराकर निस्तारण करेंगे। 

Comments

Popular posts from this blog

पुलिस प्रशासन और दीवानी न्यायालय के न्यायिक अधिकारियों के बीच छिड़ी जंग, न्यायाधीश हुए सुरक्षा विहीन

मछलीशहर (सु) संसदीय क्षेत्र से सांसद बनने के लिए दावेदारो की जाने क्या है स्थित, कौन होगा पार्टी के लिए फायदेमंद