अधिकारी गण प्रवासियों को कड़ाई से 21 दिनों तक क्वारंटाइन कराये,आशा की सूचना पर थानेदार तत्काल सक्रिय हो- डीएम




जौनपुर । जनपद में लगभग ढाई लाख से अधिक प्रवासी श्रमिक आए हैं। इनमें अधिकांश लोग महाराष्ट्र ,मुंबई और गुजरात से आए हैं, जहां कोरोनावायरस संक्रमण सबसे ज्यादा फैला हुआ है। जनपद में जो लोग आए हैं उनकी सैम्पलिंग में भी जनपद के 248 पॉजिटिव केस में 220 मुंबई से आए हुए लोग हैं। इस आशय की जानकारी जिलाधिकारी ने बजरिए विज्ञप्ति दिया है।  उन्हाने बताया कि प्रवासी श्रमिक गांव में होम क्वारेन्टाइन में है ,जो लोग 21 दिन का होम क्वारेन्टाइन अभी तक पूरा नहीं किए हैं उन्हें हर हाल में अपने घर में 21 दिन का होम क्वारेन्टाइन पूरा करना है। यदि किसी प्रवासी श्रमिक में इस अवधि के दौरान कोरोना वायरस के संक्रमण के लक्षण आते हैं तो तत्काल अपने आशा और प्रधान के माध्यम से अस्पताल को सूचित करें, जिससे कि उनका अस्पताल में इलाज कराया जा सके ।
        समस्त उपजिलाधिकारी ,क्षेत्राधिकारी खंड विकास अधिकारी, थानाध्यक्ष/ प्रभारी निरीक्षक से अपेक्षा की गई थी कि 05-05 गांव प्रतिदिन भ्रमण करें और देखें कि कोई भी व्यक्ति जो 21 दिन का होम क्वारेन्टाइन पूरा नहीं कर रहा है तो उन्हे होम क्वारेन्टाइन के नियमों का पालन कराये और ऐसा नहीं करने पर उसके विरूद्ध कड़ी कार्यवाही कराई जाए। किसी व्यक्ति के विरूद्ध प्रधान और आशा द्वारा सूचना देने पर थाना प्रभारी को तत्काल कार्यवाही करने का निर्देश दिया ।
     जिलाधिकारी ने मुख्य विकास अधिकारी को निर्देश दिया कि जौनपुर कंट्रोल रूम के माध्यम से प्रत्येक अधिकारी से सूचना ले कि प्रत्येक अधिकारी 05 गावों को भ्रमण कर रहे हैं या नहीं तथा शाम को 7ः00 बजे होने वाली व समीक्षा बैठक में भ्रमण की व कार्यवाही की स्थिति प्रस्तुत करें।
   उन्हाने कहा कि सार्वजनिक स्थान पर प्रत्येक व्यक्ति को मास्क लगाना या फेस कवर लगाना अनिवार्य है। सोशल डिस्टेंसिंग अर्थात 02 गज की दूरी बनाए रखना भी जरूरी है। 65 वर्ष से अधिक व 10 वर्ष से कम उम्र के लोगो का बाहर निकालने पर प्रतिबन्ध है।

Comments

Popular posts from this blog

पुलिस प्रशासन और दीवानी न्यायालय के न्यायिक अधिकारियों के बीच छिड़ी जंग, न्यायाधीश हुए सुरक्षा विहीन

एंटी करप्शन टीम के हत्थे चढ़ा चपरासी ढाई लाख रुपए घूस ले रहा था चपरासी सहित एसीओ के खिलाफ मुकदमा दर्ज

मछलीशहर (सु) संसदीय क्षेत्र से सांसद बनने के लिए दावेदारो की जाने क्या है स्थित, कौन होगा पार्टी के लिए फायदेमंद