प्रधान हत्या काण्डः पुलिस ने नामजद सहित तीन के खिलाफ दर्ज किया मुकदमा, हत्यारे पुलिस पकड़ से है दूर


वीवीआईपी को जनपद में रहते गोलियों की तड़तड़ाहट ने व्यवस्था पर खड़ा कर दिया है एक बड़ा सवाल 

जौनपुर। जनपद में प्रदेश सरकार की वीवीआईपी महामहिम राज्यपाल उप्र को रहते हुए उनके कार्यक्रम स्थल से महज तीन किमी की दूरी पर थाना सरायख्वाजा क्षेत्र स्थित ग्राम मखमेलपुर के ग्राम प्रधान राज कुमार यादव 50 साल की हत्या ने एक बार फिर कानून व्यवस्था को सवालों के कटघरे में खड़ा कर दिया है। हलांकि पुलिस ने मृतक के परिजन की तहरीर पर मु.अ.सं. 53 /21 से धारा 302, 34 आईपीसी एवं 120 बी के तहत दो नामजद सहित तीन लोगों के खिलाफ पंजीकृत कर लिया है। अब हत्यारों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की छः टीमें गठित कर दी गयी है। 
यहां बता दे कि प्रदेश की महामहिम राज्यपाल गत 15 फरवरी से जौनपुर की सरजमीं पर स्थित पूर्वांचल विश्वविद्यालय में मौजूद थी और पुलिस विभाग पूरे जनपद में सुरक्षा की चाक चौबंद व्यवस्था का दावा करता फिर रहा था। 16 फरवरी को विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह के बाद महामहिम यहीं पर थी उसी समय ही विश्वविद्यालय परिसर से महज 3 किलोमीटर की दूरी पर गोलियां तड़तड़ा गयी जो जिले की कानून व्यवस्था पर सवाल खड़ा कर दी है। इतना ही नहीं इस हत्या कान्ड से गुस्साई भीड़ ने शव को सड़क पर रख कर खूब बवाल काटा और पुलिस वालों के वाहनों को तोड़ कर अपना गुस्सा निकाला। 
इस घटना की रंजिश अभी बहुत स्पष्ट तो नहीं है लेकिन इसको वर्ष 2019 में हुईं लालजी यादव हत्या कान्ड से जोड़ कर देखा जा रहा है। बताया जा रहा है कि राजकुमार यादव प्रधान 16 फरवरी को सुबह लालजी यादव हत्या कान्ड में गवाही देने के लिए कचहरी गया था वहां से वापस लौट रहा था कि सरायख्वाज के पास स्थित कम्पोजिट विद्यालय के पास पीछे से मोटरसाइकिल सवार बदमाशों ने ओवर टेक कर राजकुमार को रोके और कनपटी पर बन्दूक सटा कर सीधे गोली मार दिये जिससे प्रधान वहीं लुढ़क गया और बदमाश भाग निकले। हलांकि प्रशासन के अधिकारी अभी जांच करने की बातें कह रहे हैं। 
घटना की खबर वायरल होते ही प्रशासनिक अधिकारी सहित पुलिस विभाग में हडकंप मच गया। आनन फानन में डीएम एसपी सहित आस पास थानों की पुलिस घटना स्थल पर पहुंची ।यहां सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि जिस इलाके में वी वीआईपी मौजूद था वहां बदमाशों की हिम्मत कैसे हो गयी कि दिन दहाड़े हत्या जैसी घटना को अंजाम दे दिया गया है। 
मृतक राजकुमार के परिजन की तहरीर पर पुलिस ने सतीश सिंह एवं सुभाष यादव तथा एक अज्ञात कुल तीन को अभियुक्त बनाते हुए मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। अब पुलिस का और प्रशासन दोनों का दावा है कि हत्यारे जल्द सलाखों के पीछे पहुंचा दिये जायेंगे। 

Comments

Popular posts from this blog

यूपी बोर्ड इन्टर और हाईस्कूल के परीक्षा की तिथि घोषित, कार्यक्रम हुआ घोषित,देखे डेटशीट

यूपी में फिर बड़ा प्रशासनिक फेरबदल,छह IAS और पन्द्रह IPS अफसरों के तबादले, देखें लिस्ट

11 दिसम्बर तक पूर्वांचल में चक्रवाती तूफान मिगजौम जानें क्या रहेगा असर