पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर ने सीएम पर साधा निशाना, हत्या की जांच शुरू की तो कर दिया गया ट्रान्सफर



पूर्व रिटायर आईपीएस अमिताभ ठाकुर ने योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधा है। उन्होंने अपने ट्वीट के जरिए सीएम योगी पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं। उन्होंने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट करते हुए लिखा कि योगी आदित्यनाथ मुझसे यूं ही नाराज नहीं है। 2007 में उनके संसद में रुदन कांड के समय मै एसपी महाराजगंज था। जब मैंने शासन के आदेश से उनके खिलाफ पचरुखिया मर्डर केस में जांच शुरू की थी, जिसमें उनके खिलाफ ठोस प्रमाण थे। तब मेरा ट्रांसफर हुआ और उसके साथ ही जांच बंद हो गयी।
अमिताभ ठाकुर के इस ट्वीट पर लोग अपनी प्रतिक्रिया भी दे रहे हैं। एक टि्वटर हैंडल से कमेंट किया गया कि,’ ऐसे तो आपने सिस्टम के दबाव के कितने मजबूरों को न्याय नहीं दिलवाया होगा। धिक्कार है आप पर।’ आप उस वक़्त न्याय नही कर पाए और आज यहाँ अपना और योगी का 36 का आँकड़ा बता कर राजनीति में घुसने का एक सफल प्रयास कर रहे है। आज आपसे उम्मीद टूट गयी कि आप राजनीति में आकर कुछ कर पाएंगे।
जानकारी के लिए बता दें कि अमिताभ ठाकुर को उत्तर प्रदेश शासन के अपर मुख्य सचिव अवनीश कुमार अवस्थी के आदेश मुताबिक गृह मंत्रालय, भारत सरकार के 17 मार्च के आदेश द्वारा उनको लोक हित में सेवा में बनाए रखने के उपयुक्त न पाते हुए तत्काल प्रभाव से सेवा पूर्ण होने के पहले सेवानिवृत्त कर दिया गया था। वहीं हाल में ही अमिताभ ठाकुर और उनकी पत्नी डॉ नूतन ठाकुर ने एसपी बाराबंकी कार्यालय के कर्मचारियों पर आरोप लगाते हुए प्रधानमंत्री को पत्र भेजा था। जिसमें कहा गया कि एसपी कार्यालय में तैनात दरोगा व सिपाही थाने पर कर्मचारियों की तैनाती के नाम पर खुलेआम रिश्वत ले रहे हैं।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मुम्बई से आकर बदलापुर थाने में बैठी प्रेमिका, पुलिस को प्रेमी से मिलाने की दी तहरीर, पुलिस पर सहयोग न करने का आरोप

आइए जानते है कहां पर बारिश के दौरान आकाश से गिरी मछलियां, ग्रामीण रहे भौचक

पूर्वांचल की राजनीति का एक किला आज और ढहा, सुखदेव राजभर का हुआ निधन