आय कर के बाद अब शराब माफिया के गोदाम कार्यालय पर एस आई टी का छापा


जौनपुर। आय कर विभाग के बाद अब शराब माफिया व्यवसायी ओम प्रकाश जायसवाल के शराब गोदाम और कार्यालय पर आज एसआईटी की टीम ने सुबह लगभग 08 बजे से छापामार कर गहन छानबीन कर रही लगभग पूरे दिन शराब गोदाम और कार्यालय एस आई टी के कब्जे में रहा। इस छापामारी के चलते अन्दर फंसे कर्मचारीगण न बाहर जा सके नही बाहर से कोई अन्दर प्रवेश कर सका है ।अधिकारी पूरे दिन अभिलेखों को खंगालते नजर आये है। 
सूत्र की माने तो शराब माफिया ओमप्रकाश जायसवाल के शराब का कारोबार सहारनपुर से जुड़ा हुआ है। सहारनपुर शराब कारोबार में राजस्व घोटाले के बाबत दर्ज मुकदमे मे जौनपुर के शराब व्यवसायी ओम प्रकाश जायसवाल के प्रबंधक संतलाल भी अभियुक्त है और वर्तमान में जिले से फरार चल रहे है। खबर यह भी है कि शराब कारोबार के लिए बना लाईसेंस निरस्त होने के बाद भी अवैध तरीके से जौनपुर शराब लायी गयी थी। इसीलिए सहारनपुर फैक्ट्री के उपर दर्ज मुकदमें में जौनपुर का भी नाम शामिल रहा। वर्तमान में लाईसेंस किसके नाम है लेकिन खबर है कि आबकारी विभाग द्वारा इस शराब माफिया को बचाने का भी जतन किया गया था।
यहां बता दे कि विगत मई 21 में भी एस आई टी ने छापामारी किया था उसी समय शराब माफिया के एस एल टू का गोदाम सील कर दिया गया था। इसके बाद अब फिर छापामारी करते हुए कार्यालय के प्रबंधक को कब्जे में लेकर गहन पूछताछ करते हुए अभिलेखों को देखा जा रहा है। इस संदर्भ में अधिकारी से लेकर शराब व्यवसाय से जुड़े लोग कुछ बोलने से परहेज कर रहे है। लेकिन एस आई टी की टीम द्वारा पूरे दिन की जा रही जांच इतना तो संकेत करती है कि बड़ा घोटला संभावित है। 
सूत्र तो यह बता रहे है कि जनपद के थाना सरायख्वाज क्षेत्र में जिस जहरीली शराब के सेवन से आधा दर्जन लोंगो की मौत हुई थी वह शराब सहारनपुर से जिले के शराब माफिया ओमप्रकाश जायसवाल ने मंगाया था। एस आई टी इसकी भी छानबीन कर रही है। 

Comments

Popular posts from this blog

जौनपुर में चुनावी तापमान बढ़ाने आ रहे है सपा भाजपा और बसपा के ये नेतागण, जाने सभी का कार्यक्रम

अटाला मस्जिद का मुद्दा भी अब पहुंचा न्यायालय की चौखट पर,अटाला माता का मन्दिर बताते हुए परिवाद हुआ दाखिल

मछलीशहर (सु) लोकसभा में सवर्ण मतदाताओ की नाराजगी भाजपा के लिए बनी बड़ी समस्या,क्या होगा परिणाम?