यूपी भाजपा महिला मोर्चा की टीम घोषित जौनपुर की मेनका सिंह बनी मंत्री, पहली बैठक आज



यूपी में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर सभी पार्टियों ने अपनी तैयारियां शुरू कर दी है। राजनीति की बिसात पर अपने मोहरों को उनके उचित स्थान पर बैठाने का काम शुरू हो गया है। इसी क्रम में उत्तर प्रदेश में भाजपा महिला मोर्चा की 29 सदस्यीय टीम बुधवार को घोषित की गई है। इसमें छह उपाध्यक्ष और दो महामंत्री के अलावा छह मंत्री का पद रखा गया है। बता दें कि भाजपा महिला मोर्चा की 29 सदस्यीय टीम में सोशल इंजीनियरिंग का भी पूरा ध्यान रखा गया है। सुल्तानपुर की बबिता तिवारी और वाराणसी की अपराजिता सोनकर को महामंत्री बनाया गया है। वाराणसी की पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष अपराजिता सोनकर कुछ साल पहले ही सपा छोड़कर भाजपा में आईं थीं। 
महिला मोर्चा टीम की क्षेत्रीय अध्यक्ष नम्रता चौरसिया के अनुसार वाराणसी महानगर की सुरेखा सिंह, सोनभद्र की कुसुम शर्मा, वाराणसी की सुनीता सिंह व प्रियंका दूबे, प्रयागराज महानगर की अर्चना शुक्ला, मिर्जापुर की नीरू श्रीवास्तव को उपाध्यक्ष बनाया गया है। 
सुल्तानपुर की बबिता तिवारी और वाराणसी की अपराजिता सोनकर को महामंत्री बनाया गया है। प्रयागराज की गीता विश्वकर्मा, वाराणसी की पूजा दीक्षित, कौशांबी की मीना सिंह भदौरिया, जौनपुर की मेनका सिंह, सुल्तानपुर की कंचन कोरी, प्रयागराज की वंदना सिंह मंत्री बनी हैं।
वाराणसी की यशा मौर्या को सोशल मीडिया प्रमुख बनाया गया है प्रतापगढ़ की प्रतिभा सिंह को कोषाध्यक्ष, चंदौली की सुनीता मिश्रा को कार्यालय प्रभारी, अमेठी की माधवी सिंह को शोध विभाग प्रमुख, प्रयागराज की वर्षा जायसवाल को मीडिया प्रभारी, गाजीपुर की पूनम मौर्या को सह मीडिया प्रभारी और वाराणसी की यशा मौर्या को सोशल मीडिया प्रमुख का दायित्व दिया गया है। पहली बैठक आज 29 जुलाई को है इसके अलावा गाजीपुर की शीला सोनकर, चंदौली की लक्ष्मी गुप्ता, भदोही की ऋचा सिंह, सोनभद्र की इशिका पांडेय व अंशु अग्रहरी, प्रयागराज यमुना पार की कुसुम केशरवानी, प्रयागराज की भाग्यवती प्रजापति, सोनभद्र की निशा रावत, कौशांबी की ज्योति केशरवानी कार्यकारिणी में जगह दी गई है। 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मुम्बई से आकर बदलापुर थाने में बैठी प्रेमिका, पुलिस को प्रेमी से मिलाने की दी तहरीर, पुलिस पर सहयोग न करने का आरोप

आइए जानते है कहां पर बारिश के दौरान आकाश से गिरी मछलियां, ग्रामीण रहे भौचक

पूर्वांचल की राजनीति का एक किला आज और ढहा, सुखदेव राजभर का हुआ निधन