नई शिक्षा नीति के तहत परीक्षा में अब यूपी बोर्ड जानें क्या बदलाव किया है, इसका असर क्या होगा



नई शिक्षा नीति के तहत यूपी बोर्ड भी इस बार 9वीं की परीक्षा OMR शीट से कराने जा रहा है। 70 नंबर की लिखित परीक्षा में 20 नंबर के सवाल OMR शीट पर बहुविकल्पीय प्रकार के होंगे जबकि 50 नंबर पुरानी व्यवस्था के तहत डिस्क्रिप्टिव होंगे। CBSE की तर्ज पर बदला गया परीक्षा का पैटर्न बता दें कि CBSE की तर्ज पर यूपी बोर्ड भी इस बार 9वीं की परीक्षा में बदलाव करने जा रहा है। 100 नंबर के पेपर में 30 नंबर इंटरनल एग्जाम के होंगे तो वहीं 70 नंबर लिखित परीक्षा के रहेंगे। बता दें कि CBSE बोर्ड पहले से ही 9वीं और 11वीं के लिए इस नई व्यवस्था को लागू कर चुका है। CBSE बोर्ड में 100 नंबर के पेपर में 30 नंबर आंतरिक मूल्यांकन और 70 नंबर लिखित परीक्षा के रखे गए हैं। इस 70 नंबर की लिखित परीक्षा में 35 नंबर बहुविकल्पीय प्रश्नों के जवाब ओएमआर शीट के जरिए ही भरे जाएंगे और 35 नंबर वर्णनात्मक होंगे। 
9वीं की परीक्षा पैटर्न में बदलाव, अब OMR सीट पर होगी परीक्षा यूपी बोर्ड भी इस बार 9वीं की परीक्षा OMR शीट से कराने जा रहा है। नई शिक्षा नीति के तहत 70 नंबर की लिखित परीक्षा में 20 नंबर के सवाल OMR शीट पर बहुविकल्पीय प्रकार के होंगे। जबकि 50 नंबर पुरानी व्यवस्था के तहत डिस्क्रिप्टिव होंगे। इसके अलावा कक्षा 11 व 12वीं की अर्द्धवार्षिक, वार्षिक प्री बोर्ड परीक्षाओं में अंक विभाजन व्यवस्था पिछले साल की तरह ही हैं। इसमें कोई बदलाव नहीं होगा। परीक्षा को लेकर राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 में क्या है? राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के तहत माध्यमिक शिक्षा में प्रश्न पत्रों के प्रारूप में परिवर्तन किया गया है। इसमें लिखित परीक्षा के 70 अंक के प्रश्नपत्रों को दो भागों में बांटा जाना है। 70 अंक के प्रश्न पत्र के लगभग 30 प्रतिशत अंक यानि 20 अंक का पहला भाग बहुविकल्पीय प्रश्नों पर आधारित होगा, जिसका उत्तर ओएमआर शीट पर देना होगा। इस संबंध में यूपी बोर्ड की तरफ से सभी जिला विद्यालय निरीक्षक को निर्देश जारी कर दिए गए हैं। यूपी बोर्ड से जुड़े एक अधिकारी का कहना है कि 9वीं के परीक्षा में OMR शीट से 20 नंबर की परीक्षा का फैसला बच्चों को प्रतियोगी परीक्षाओं में बैठने से पहले तैयार करने की पहल है। OMR शीट पर बहुविकल्पीय प्रश्न पत्र का जवाब भर कर विद्यार्थी OMR शीट से परीक्षा देने की व्यवस्था को भी समझेंगे। यह प्रतियोगी परीक्षाओं के पूर्वाभ्यास (प्रैक्टिस) की तरह होगा इसलिए इसके 20 नंबर ही रखे गए हैं।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

चाचा भतीजी में हुआ प्यार, फिर फरार, पकड़े जाने पर हुई दैहिक समीक्षा, अब शादी की तैयारी

58 हजार ग्राम प्रधानो को लेकर योगी सरकार ने लिया अब यह फैसला

जौनपुर में तैनात दुष्कर्म के आरोपी पुलिस इन्सपेक्टर की सेवा हुई समाप्त, जानें क्या है घटना क्रम