जीवन रक्षक है ओआरएस का घोल - डा. लक्ष्मी सिंह,सीएमओ




जौनपुर । भारतीय रेड क्रॉस सोसाइटी जनपद शाखा जौनपुर द्वारा नगर के लाइन बाजार स्थित एसएस हॉस्पिटल में ओ आर एस सप्ताह जिसमें  25 से 31 जुलाई के अंतर्गत 
  महिलाओं को ओआरएस घोल के  महत्व एवं शिशुओं के जीवन पर पड़ने वाले प्रभाव के प्रति जागरूक किया गया साथ ही साथ शिविर में आए हुए लोगों को एसएस हॉस्पिटल के द्वारा ओ आर एस एवं जिंक के पैकेट वितरित किए गए ।
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए बतौर मुख्य अतिथि सीएमओ डा.‌लक्ष्मी सिंह ने महिलाओं को जागरुक करते हुए कहा कि  ओरआरएस का घोल जीवन रक्षक है, इसके इस्तेमाल से  बच्चों को डिहाईड्रेशन सहित अन्य जानलेवा बीमारियों से बचाया जा सकता है , स्वस्थ बच्चे ही देश व समाज के निर्माण में अपना योगदान कर सकते हैं , इसलिए माताओं को शिशुओं के स्वास्थ के प्रति सजग रहने की विशेष जरुरत है । विशिष्ट अतिथि पूर्व विधायक जफराबाद डा.‌हरेन्द्र सिंह ने कहा कि प्रदेश व केन्द्र सरकार आमजन के स्वास्थ के प्रति बेहद सतर्क और गम्भीर है इसीलिए सरकार ने हर घर शौचालय बनवाने के साथ ही सभी के लिए शुद्ध पेयजल की व्यवस्था करने का कार्य कर रही है , क्योंकि खुले में शौच व शुद्ध पेयजल की कमी से तमाम रोग जन्म लेते हैं । डा. एन के सिंह ने ओओरएस घोल को शिशुओं के लिए रामबाण औषधि बताया, कार्यक्रम के संयोजक डा. तेज सिंह ने ओआरएस घोल को बनाने व उसके समुचित उपयोग पर विस्तार से प्रकाश डाला ।  कार्यक्रम का संचालन रेडक्रास सोसायटी के सचिव डा. मनोज वत्स के द्वारा किया गया तथा अंत में रेड क्रॉस सोसाइटी के कोषाध्यक्ष डा संदीप पांडेय ने सभी के प्रति आभार व्यक्त किया ।
इस मौके पर अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डा. प्रभात कुमार,  शशिकांत सिंह , विद्याधर राय  'विद्यार्थी ,  एस एन सिंह संतोष सिंह पिंटू , नवनीत राय, राम प्रकाश, राकेश यादव, अमित यादव सहित भारी संख्या में महिलाएं व अस्पताल कर्मचारी उपस्थित रहे ।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जौनपुर में आज फिर तड़तड़ायी गोलियां एक की मौत दूसरा घायल पहुंचा अस्पताल,छानबीन मे जुटी पुलिस

बिजली कर्मियों हड़ताल को देख, वितरण व्यवस्था संचालन हेतु नोडल और सेक्टर अधिकारी नियुक्त

जानिए मुर्गा काटने के दुकान से कैसे मिला गुड्डू की लाश,पुलिस कर रही है जांच