जानिए इंटर के छात्र ने प्रधानाचार्य को गोली क्यों मारी, हालत नाजुक, छात्र पुलिस पकड़ से दूर

प्रदेश के अन्दर अपराध करने वालो में कानून का खौफ इतना कम है कि छात्र अपने ही गुरू के उपर गोलियां बरसा रहे है जी हां ताजा मामला जनपद सीतापुर के सदरपुर थाना इलाके का है यहां पर दो छात्रों की लड़ाई के बाद एक छात्र ने प्रधानाचार्य पर गोलियां बरसा दी। छात्र ने तीन राउंड गोलियां चलाई जिसमें दो प्रधानाचार्य को लग गईं। घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी मौके से फरार हो गया। मौके पर पहुंची पुलिस ने प्रधानाचार्य को बिसवा सीएचसी में भर्ती कराया। जहां से उन्हें जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया है। जिला अस्पताल के चिकित्सकों ने उनकी हालत नाजुक देखते हुए उन्हें ट्रामा सेंटर लखनऊ के लिए रेफर कर दिया है। प्रधानाचार्य की हालत नाजुक बताई जा रही है।
इलाके के जहांगीराबाद कस्बे में आदर्श रामस्वरूप विद्यालय इंटर कॉलेज स्थित है। जहां पर दानपुरवा गांव के निवासी राम सिंह वर्मा प्रधानाचार्य है। यह विद्यालय उनके बाबा के नाम पर चलता है। शुक्रवार को इंटर क्लास के छात्र रेवान निवासी गुरविंदर सिंह और रोहित मौर्य के बीच सीट पर बैठने को लेकर विवाद हो गया। जिसका बीचबचाव प्रधानाचार्य ने किया था। मामला शांत हो गया था।
शनिवार सुबह करीब सात बजे प्रधानाचार्य राम सिंह वर्मा विद्यालय के बाहर बन रही दुकानों की देखरेख कर रहे थे। इस दौरान गुरविंदर सिंह अपने बस्ते में से अवैध असलहा लेकर आया और राम सिंह वर्मा के ऊपर चला दिया। पहली गोली उनको छूते हुए निकल गई। इसके बाद वे विद्यालय की ओर भागे तो गुरविंदर ने दूसरी गोली उनके सिर पर मारी और तीसरी गोली उनके पेट पर मार दी।
इस दौरान कॉलेज का स्टाफ भी मौके पर आ गया। गुरविंदर चौथी गोली लोड कर रहा था लेकिन स्टाफ को देखकर गुरविंदर वहां से फरार हो गया। बताया जा रहा है कि एक दिन पूर्व हुई लड़ाई में मामले की शिकायत पुलिस को भी की गई थी जिस पर पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की।
सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने घायल को बिसवा सीएससी फिर जिला अस्पताल में भर्ती कराया है। जहां उनकी हालत नाजुक देखते हुए उन्हें लखनऊ रेफर कर दिया गया है। एसओ प्रदीप सिंह ने बताया कि आरोपी छात्र की तलाश की जा रही है।
छात्र के पास एक ही दिन में असलहा कैसे आ गया इस बात की जांच में पुलिस जुटी हुई है। पुलिस ने परिजनों से भी पूछताछ शुरू कर दी है। परिजनों का कहना है कि छात्र झगड़े के बाद काफी गुस्से में था। असलहा कहां से आया इस बात की जानकारी उनके पास भी नहीं है।
ग्रामीणों का कहना है कि अगर पुलिस ने समय पर कार्रवाई की होती तो वारदात को टाला जा सकता है। अब प्रधानाचार्य की हालत नाजुक है। पुलिस आरोपी की तलाश कर रही है।

Comments

Popular posts from this blog

सड़क दुर्घटना में सिपाही की मौत विभाग में शोक की लहर

एसपी जौनपुर ने फिर आधा दर्जन से अधिक थाना प्रभारियों का किया तबादला

जौनपुर जलालपुर थाने के नये थानेदार को सिर मुड़ाते ही पड़े ओले, रेहटी गांव में हत्या कर फेंकी लाश मिलने से इलाके में सनसनी