नाबालिग छात्रा के साथ दुष्कर्म के आरोपी शिक्षक को आजीवन कारावास की सजा और लगा दो लाख रुपए का जुर्माना



नाबालिग छात्रा के साथ हुए दुष्कर्म के मामले में विशेष न्यायाधीश पाक्सो एक्ट की कोर्ट ने दोषी शिक्षक को उम्रकैद की सजा सुनाई है। शुक्रवार को मामले की सुनवाई करते हुए उस पर दो लाख रुपये का अर्थदंड भी लगाया।
अर्थदंड न देने पर छह माह की अतिरिक्त कैद भुगतनी होगी। वहीं, अर्थदंड की धनराशि में से एक लाख 60 हजार रुपये पीड़िता को मिलेगी।
अभियोजन पक्ष के मुताबिक जनपद वाराणसी स्थित बभनी थाना क्षेत्र के एक गांव निवासी पीड़िता की मां ने बभनी थाने में दी तहरीर में अवगत कराया था कि उसकी 12 वर्षीय बेटी कक्षा 5 में पढ़ती है। छह नवंबर 2019 को वह स्कूल गई थी। छुट्टी होने पर सभी बच्चे घर चले गए, लेकिन उसकी बेटी को शिक्षक संतोष कुमार जायसवाल ने रोक लिया।
करीब तीन बजे उसके साथ दुष्कर्म किया। इसके बाद बेटी को घर पहुंचा कर चला गया। बेटी को किसी से बताने के लिए मना किया था। पीड़िता ने रोते हुए अपनी मां से सारी घटना बताई। सात नवंबर को पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू की।
मामले की सुनवाई के दौरान अदालत ने दोनों पक्षों के अधिवक्ताओं के तर्कों को सुनने, गवाहों के बयान एवं पत्रावली का अवलोकन करने पर दोषसिद्ध पाकर दोषी शिक्षक संतोष कुमार जायसवाल को उम्रकैद एवं दो लाख रुपये अर्थदंड की सजा सुनाई।

Comments

Popular posts from this blog

सड़क दुर्घटना में सिपाही की मौत विभाग में शोक की लहर

एसपी जौनपुर ने फिर आधा दर्जन से अधिक थाना प्रभारियों का किया तबादला

जौनपुर जलालपुर थाने के नये थानेदार को सिर मुड़ाते ही पड़े ओले, रेहटी गांव में हत्या कर फेंकी लाश मिलने से इलाके में सनसनी