प्राचीनतम विरासत योग को जन जन तक पहुंचाने में योग गुरु बाबा रामदेव की है महति भूमिका - कपिलदेव मौर्य

सम्मूर्ण स्वास्थ्य का आधार है योग-अचल हरीमूर्ति


जौनपुर। गुफाओं और कन्दराओं से निकालकर भारत की प्राचीनतम विरासत योग को एक महाअभियान के तहत जन जन तक पहुंचाने में योग गुरु बाबा रामदेव नें महति भूमिकाओं को निभाया है और आज की भौतिकता से युक्त जीवन शैली में नियमित और निरन्तर योगाभ्यासों को करके जीवन को ही संतुलित किया जा सकता है। यह बातें पतंजलि योग समिति के तत्वावधान में नगर स्थित मंगलम् मैरेज हॉल में चल रहे योग शिक्षक प्रशिक्षण शिविर में आज  प्रातः काल बतौर मुख्य अतिथि जौनपुर प्रेस क्लब के अध्यक्ष कपिलदेव मौर्य ने कहा है। उन्होंने कहा कि साधक गण योग प्रशिक्षण प्राप्त कर खुद को स्वास्थ्य रखें और समाज को स्वास्थ्य रखने हेतु अपनी महती भूमिका का निर्वाह करे आज के समय इससे बड़ जन सेवा कोई नहीं है। कोरोना संक्रमण काल में योग रिषी बाबा रामदेव की सराहनीय भूमिका की चर्चा करते हुए उनसे सीख लेने की अपील साधक गण से किया। 

योग के सैद्धांतिक पक्षों के साथ क्रियात्मक योगाभ्यासों को कराते हुए पतंजलि योग समिति के प्रान्तीय सह प्रभारी अचल हरीमूर्ति के द्वारा विविध प्रकार के आसन,ध्यान, व्यायाम और प्राणायामों को कराते हुए उनसे मनोदैहिक लाभों को बताते हुए बताया गया है कि बिना योगाभ्यास किये किसी भी व्यक्ति के सम्पूर्ण स्वास्थ्य की संकल्पना ही नहीं की जा सकती है और योग ही स्वास्थ्य का मूलाधार है।श्री हरीमूर्ति के द्वारा युवाओं से आह्वान किया गया है कि वह अपनें कैरियर को योग के क्षेत्र में लगायें और अपनी इस विरासत को उसके मूल स्वरुप में पीढ़ी दर पीढ़ी हस्तांतरित करने में अपनी महति भूमिकाओं को निभायें। इस मोके पर भारत स्वाभिमान के प्रभारी शशिभूषण, अधिवक्ता हरीनाथ यादव, नवीन द्विवेद्वी, राजीव सिन्हा,डा शैलेश सिंह,डा हेमंत, संजय सिंह,डा ओपी यादव,उदय प्रताप सहित अन्य साधक गण उपस्थित रहे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

चाचा भतीजी में हुआ प्यार, फिर फरार, पकड़े जाने पर हुई दैहिक समीक्षा, अब शादी की तैयारी

58 हजार ग्राम प्रधानो को लेकर योगी सरकार ने लिया अब यह फैसला

जौनपुर में तैनात दुष्कर्म के आरोपी पुलिस इन्सपेक्टर की सेवा हुई समाप्त, जानें क्या है घटना क्रम