इलाहाबाद विश्वविद्यालय में सरकारी नौकरी के लिए मांगा गया आन लाइन आवेदन,जानें क्या होगी प्रक्रिया


इलाहाबाद केंद्रीय विश्वविद्यालय ने गैर शैक्षणिक पदों पर भर्ती के लिए गुरुवार को नोटिफिकेशन जारी कर दिया। अभ्यर्थी शुक्रवार से आनलाइन मोड में विश्वविद्यालय के आधिकारिक वेबसाइट www.allduniv.ac.in से आवेदन कर सकते हैं। आवेदन की अंतिम तिथि 23 अक्टूबर तय की गई है।

अक्टूबर के पहले सप्ताह तक शिक्षक भर्ती के विज्ञापन जारी किए जा सकते हैं। विश्वविद्यालय में गैर शैक्षणिक पदों पर कर्मचारियों के कुल 632 पद रिक्त हैं। इनमें ग्रुप ए के 32, ग्रुप बी के 73 और ग्रुप सी के सर्वाधिक 527 पद खाली हैं। इन पदों को भरने के लिए पिछले दिनों कुलपित प्रोफेसर संगीता श्रीवास्तव की अध्यक्षता में कार्य परिषद ने सर्वसम्मति से मंजूरी दे दी थी। इसके बाद फैकल्टी रिक्रूटमेंट सेल (एफआरसी) ने रोस्टर तैयार करने की प्रक्रिया शुरूकी। रोस्टर तैयार होने के बाद गुरुवार को रिक्त पदों को भरने के लिए विज्ञापन जारी कर दिया गया। जनसंपर्क अधिकारी डाक्टर जया कपूर ने बताया विस्तृत विज्ञापन गुरुवार को वेबसाइट पर जारी कर दिया जाएगा। इसके बाद अभ्यर्थी आवेदन कर सकेंगे। 23 अक्टूबर तक आवेदन की प्रक्रिया पूरी होने के बाद स्क्रीनिंग की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। इसके बाद भर्ती के लिए आगे की कवायद शुरू की जाएगी। इन पदों के अलावा हिंदी टाइपिस्ट, हिंदी अनुवादक और हिंदी अफसर के पदों पर भी भर्ती होनी है।

शिक्षक भर्ती के लिए आवेदन जल्द
पिछले दिनों कार्य परिषद की बैठक में शिक्षक भर्ती पर भी अंतिम मुहर लग गई थी। हालांकि, अभी उसका विज्ञापन नहीं जारी किया गया है। परिषद में लिए गए निर्णय के मुताबिक शिक्षकों के 595 पदों पर भर्ती होनी है। इनमें असिस्टेंट प्रोफेसर के सर्वाधिक 357, एसोसिएट प्रोफेसर के 168 और प्रोफेसर के कुल 78 पदों पर भर्ती होनी है। यह भर्ती सीधे इंटरव्यू से होगी। शिक्षक भर्ती का विज्ञापन अक्टूबर के पहले सप्ताह में जारी होने के आसार जताए जा रहे हैं।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रातः काल तड़तड़ाई गोलियां, बदमाशों ने अखिलेश यादव की कर दिया हत्या,ग्रामीण जनों में घटना को लेकर गुस्सा

मुम्बई से आकर बदलापुर थाने में बैठी प्रेमिका, पुलिस को प्रेमी से मिलाने की दी तहरीर, पुलिस पर सहयोग न करने का आरोप

आइए जानते है कहां पर बारिश के दौरान आकाश से गिरी मछलियां, ग्रामीण रहे भौचक