आइये जानते है कहां पर बच्चों को किताब काफी की जगह पकड़ाया जाता है असलहा


उत्तर प्रदेश के जनपद बागपत में अवैध असलहा के क्षेत्र में किस तरह से बाढ़ आई है। इसका अंदाजा इसी बात से लग जाता है कि बड़ों से लेकर छोटे भी हथियारों को हाथ में लेकर खिलौनों की तरह खेलते नजर आते हैं। कुछ ऐसा ही नजारा बड़ौत कोतवाली क्षेत्र के हिलवाडी गांव का बताया जा रहा है। यहां पर दो नाबालिग हाथ में तमंचा लिए हुए हैं। इतना ही नहीं तमंचे में कारतूस भी डालते हुए यह बच्चे साफ तौर पर दिखाई दे रहे हैं। जनपद बागपत में दो नाबालिग तमंचा लिए और कारतूस को तमंचे में डालते हुए इन दोनों ने पहले फोटो खींची और फिर उसे सोशल मीडिया पर अपलोड भी कर दिया। इन दोनों नाबालिग की यह फोटो अब सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रही है। 
बच्चों के हाथों में किताब-कॉपी की जगह अब तमंचे और बन्दूक होने पुलिस पूरे मामले की गंभीरता से जांच भी कर रही है, लेकिन सवाल यह उठता है कि इन छोटे-छोटे नाबालिक बच्चों के हाथ में आखिर अवैध असलहा आया कहां से? जिन छोटे बच्चों के हाथों में किताब-कॉपी, स्कूल का बैग होना चाहिए वो तमंचे से खेलते हुए नजर आते हैं। आये दिन जिस तरह महिला, युवा, किशोरों के हाथ मे तमंचे, बन्दूक के साथ फोटो-वीडियो एक के बाद एक वायरल हो रहे है उससे पुलिस की कानून व्यवस्था व कार्यशैली पर भी सवाल खड़े हो रहे है। 
क्षेत्र में इतना अवैध असलाह आखिर आ कहां से रहा है या फिर इनका निर्माण यहीं कहीं आसपास के क्षेत्र में हो रहा है जिस पर बागपत पुलिस जरा भी ध्यान नहीं दे रही है। कब कौन सी बड़ी घटना हो जाए इसका भी कोई अंदाजा नहीं लगाया जा सकता ? 
बड़ौत कोतवाली के प्रभारी रवि रत्न के अनुसार  वायरल फोटो के आधार पर जल्द ही दोनों को गिरफ्तार कर असलाह बरामद करने का प्रयास जा रहा है । अभी मामले की जांच चल रही है । वैधानिक कानूनी कार्यवाही की जाएगी ।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रातः काल तड़तड़ाई गोलियां, बदमाशों ने अखिलेश यादव की कर दिया हत्या,ग्रामीण जनों में घटना को लेकर गुस्सा

मुम्बई से आकर बदलापुर थाने में बैठी प्रेमिका, पुलिस को प्रेमी से मिलाने की दी तहरीर, पुलिस पर सहयोग न करने का आरोप

आइए जानते है कहां पर बारिश के दौरान आकाश से गिरी मछलियां, ग्रामीण रहे भौचक