आइये जानते है शिवपाल यादव ने 16 दिसम्बर को प्रदेश के सभी जिलाध्यक्षों की बैठक क्यों बुलायी है


उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 में अब कुछ ही दिन रह गए हैं. जैसे-जैसे यूपी चुनाव  नजदीक आ रहा है, वैसे-वैसे प्रसपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव की धड़कने बढ़ती जा रही है. इसका कारण भतीजे अखिलेश यादव से राजनीतिक सांठ-गाठ नहीं बन पाना बताया जा रहा है. वहीं, खबर है कि शिवपाल सिंह यादव ने तीन दिन बाद यानी 16 दिसंबर को जिला अध्यक्षों, नगर अध्यक्षों के साथ ही मंडल प्रभारियों की एक महत्वपूर्ण बैठक बुलाई गई है. जिसमें माना जा रहा है कि समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन को लेकर चीजें साफ हो जाएंगी.
इसलिए बुलाई है बैठक 
पिछले एक महीने से अखिलेश की समाजवादी पार्टी और शिवपाल की प्रसपा से गठबंधन को लेकर चर्चाओं का बाजार गर्म है. भतीजे अखिलेश के सुरों में भी चाचा शिवपाल के लिए नरमी दिखाई दी है. लेकिन, दोनों के बीच सियासी मैदान में सीटों के फॉर्मूलों को लेकर बात नहीं बन पाई हैं. इस वजह से कई जिलों में नई कार्यकारिणी का गठन नहीं हो सका है. शिवपाल सिंह यादव ने चुनाव और संगठन की तैयारियों को लेकर ये बैठक बुलाई है. इसमें पार्टी अध्यक्ष चुनावी तैयारियों को लेकर दिशा निर्देश भी जारी करेंगे.
अखिलेश यादव सत्ता में वापसी के लिए हर संभव कोशिश में जुटे हैं. ऐसे में पिछले कुछ दिनों से अखिलेश के सुरों में चाचा शिवपाल को लेकर नरमी आ गई थी. अखिलेश ने संविधान दिवस पर लखनऊ में कहा था कि समाजवादी पार्टी का जो गठबंधन हो गया है अब यही गठबंधन आगे चलेगा. एक और छोटा दल है उसको भी साथ ले लेंगे. पत्रकारों द्वारा पूछे गए सवाल क्या वह प्रसपा है? इसपर अखिलेश ने कहा कि चाचा हां हां हां वही उनको भी साथ ले लेंगे हमारा गठबंधन पूरा हो गया है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जौनपुर में आज फिर तड़तड़ायी गोलियां एक की मौत दूसरा घायल पहुंचा अस्पताल,छानबीन मे जुटी पुलिस

बिजली कर्मियों हड़ताल को देख, वितरण व्यवस्था संचालन हेतु नोडल और सेक्टर अधिकारी नियुक्त

जानिए मुर्गा काटने के दुकान से कैसे मिला गुड्डू की लाश,पुलिस कर रही है जांच