निरीक्षण के दौरान नगर मजिस्ट्रेट ने भवनों के नक्शे को लेकर अभियंता को दिया यह शख्त आदेश


जौनपुर। नगर मजिस्ट्रेट ने अवगत कराया है कि
नियत प्राधिकारी विनियमित क्षेत्र कार्यालय का निरीक्षण किया गया जिनमें आम जन मानस की सुविधाओं के दृष्टिगत कुछ निर्देश दिये गये, जिसमे विनियमित क्षेत्र जौनपुर के 1974 से गठन के पश्चात स्वीकृत भवन मानचित्रों को 20 अप्रैल 2022 तक वर्षवार वर्णानुक्रम में कम्प्यूटर में दर्ज कराये जाने हेतु अवर अभियन्ता विनियमित क्षेत्र को निर्देशित किया गया। विनियमित क्षेत्र के अन्तर्गत आने वाले सदर तहसील के समस्त लेखपालों को बुलाकर एक बैठक की गयी जिसमें शहर में विनियमित क्षेत्र के अन्तर्गत भवन निर्माण के सम्बन्ध में क्षेत्रीय लोखपालों को जांचकर निर्माण के सम्बन्ध में स्वीकृती प्राप्त की गयी है या नहीं, की जांचकर नक्शों की एक प्रति प्राप्त किये जाने के निर्देश दिये गये हैं। भवन स्वामी द्वारा भवन मानचित्र उपलब्ध न कराये जाने की दशा में निर्माण की चौहददी, फोटो व बयान सहित अपनी रिपोर्ट नियत प्राधिकारी के समक्ष प्रस्तुत किये जाने के निर्देश दिये गये। इस सम्बन्ध में यह भी निर्देशित किया गया है कि यदि कोई उत्कोच लेने की बात संज्ञान में आयी तो सम्बन्धित के विरूद्ध कठोर कार्यवाही की जायेगी। उक्त के अनुपालन में लेखपाल संजय कुमार सिंह द्वारा 02 अनाधिकृत निर्माण की रिपोर्ट तथा लेखपाल प्रभात कुमार यादव द्वारा 01 अनाधिकृत निर्माण की रिपोर्ट प्रस्तुत की गयी है।
जिस पर आर०बी०ओ० एक्ट के अन्तर्गत कार्यवाही की जा रही है। नियत प्राधिकारी के आदेश 22 जून 2021 के अनुपालन में मोहल्ला नखास स्थित विजय कुमार बरनवाल आदि के नजूल भूमि पर स्थित भवन पर किये गये अनाधिकृत निर्माण को ध्वस्त कर भूमि अधिशासी अधिकारी नगर पालिका परिषद जौनपुर को सुपुर्द कर दिया गया है। जिस पर भू-तल पर सार्वजनिक शौचालय तथा प्रथम तल पर रैन बसेरा बनाये जाने हेतु प्रस्ताव प्रस्तुत किये जाने के निर्देश दिये गये हैं।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भाभी को अकेला देख देवर की नियत हुई खराबा, जानें फिर क्या हुआ, पुलिस को तहरीर का इंतजार

घुस लेते लेखपाल रंगेहाथ गिरफ्तार, मुकदमा दर्ज कर एनटी करप्शन टीम ले गयी साथ

सिद्दीकपुर में चला सरकारी बुलडोजर मुक्त हुई 08 करोड़ रुपए मालियत की सरकारी जमीन