डीएम ने अनुपस्थित चिकित्सको से मांगा स्पष्टीकरण,दिया यह शख्त निर्देश


जौनपुर। जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा के द्वारा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बदलापुर का औचक निरीक्षण किया गया। उन्होंने उपस्थिति पंजिका, ओपीडी रजिस्टर, दवा स्टॉक देखा। उपस्थिति पंजिका के निरीक्षण में दो चिकित्सक अनुपस्थित मिले जिस पर नाराजगी व्यक्त करते हुए दोनों चिकित्सकों का स्पष्टीकरण लेने के निर्देश जिलाधिकारी के द्वारा दिए गए। 
उन्होंने इमरजेंसी वार्ड, लेबर रूम, मेडिकल स्टोर आदि का बारीकी से निरीक्षण किया। निरीक्षण में सीएचसी पर सभी प्रकार की दवाइयां उपलब्ध मिली और उन्होंने चिकित्सा अधीक्षक डॉ0 संजय दुबे को निर्देश दिया कि बाहर की दवा नहीं लिखी जानी चाहिए। 
उन्होंने कहा कि यदि कोई दवा जो सीएचसी पर उपलब्ध नहीं है तो उसे जिला मुख्यालय से मंगवा लिया जाए। जिलाधिकारी द्वारा स्पष्ट रूप से निर्देश दिया गया कि जितने भी मरीज सीएचसी पर इलाज कराने आ रहे हैं यदि उनका आयुष्मान कार्ड बना है तो उनका इलाज उसी कैटेगरी में किया जाए। लेबर रूम के निरीक्षण के दौरान स्थिति संतोषजनक पाई गयी। उन्होंने पाया कि कल कुल 8 डिलीवरी हुई थी। जिलाधिकारी द्वारा लेबर रूम में भर्ती मरीज सुनीता एवं सीमा से वार्ता कर उनके स्वास्थ्य के संबंध में जानकारी भी ली। 
ग्राम पंचायत गौरा खुर्द की आशा से डिलीवरी के उपरांत क्या क्या सेवाएं दी जानी है, के संबंध में विस्तार से जानकारी प्राप्त की और आवश्यक दिशा-निर्देश दिया। जिलाधिकारी ने आशा से कहा कि किसी भी बच्चे की मृत्यु इलाज के अभाव में नहीं होनी चाहिए, यदि उनकी स्थिति गंभीर हो रही है तो तुरंत जिला अस्पताल भेज दिया जाए। इस अवसर पर स्टाफ नर्स ममता राय, कामना सिंह, फूलमती देवी सहित अन्य उपस्थित रहे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हर रात एक छात्रा को बंगले पर भेजो'SDM पर महिला हॉस्टल की अधीक्षीका ने लगाया 'गंदी डिमांड का आरोप; अधिकारी ने दी सफाई

यूपी कैबिनेट की बैठक में जौनपुर की इस नगर पालिका के विस्तार का प्रस्ताव स्वीकृत

जफराबाद विधायक का खतरे से बाहर डाॅ गणेश सेठ का सफल प्रयास, लगा पेस मेकर