महज ढाई सौ रूपये के लिए हत्या, पुलिस जांच में जुटी, जानें क्या है कहानी

 


प्रदेश की राजधानी स्थित कश्मीरी मोहल्ले में बीती रात किराए को लेकर कुछ लोगों का ई-रिक्शा चालक अयाज से विवाद हो गया। देखते ही देखते मारपीट शुरू हो गई। शोरगुल सुनकर अयाज के पिता मुजीद बीच-बचाव करने पहुंचे तो हमलावरों ने उनकी भी पिटाई कर दी। हमले में घायल मुजीद को ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया, जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई।


एडीसीपी चिरंजीव नाथ सिन्हा ने बताया कि किराए के ढाई सौ रुपये को लेकर विवाद हुआ था। कश्मीरी मोहल्ला निवासी अयाज के ई-रिक्शा से पड़ोस में रहने वाले फैजान, रिजवान, सलमान व एक अन्य निशातगंज कुछ सामान लेकर गए थे। वापस आने पर अयाज ने आरोपितों से किराया मांगा। इसपर आरोपितों ने ज्यादा रुपये मांगने का आरोप लगाया और रुपये देने से इंकार कर दिया। इसी बात को लेकर अयाज की आरोपितों से बहस हो गई। इससे नाराज फैजान, रिजवान और सलमान ने अयाज की पिटाई शुरू कर दी।


शोरगुल सुनकर अयाज के पिता मुजीद वहां पहुंचे और मामले को शांत कराने की कोशिश की। इसी दौरान आरोपितों ने उनकी भी पिटाई कर दी, जिसमें वह गंभीर रूप से घायल हाे गए। आरोपित हमले के बाद भाग निकले। गंभीर अवस्था में परिवारजन मुजीद को ट्रामा सेंटर लेकर गए, जहां गुरुवार देर रात उनकी मौत हो गई। एडीसीपी ने बताया कि हमलावरों की तलाश की जा रही है। आरोपित और पीड़ित पक्ष पड़ोस में रहते हैं। सुरक्षा के लिहाज से पुलिस तैनात कर दी गई है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हर रात एक छात्रा को बंगले पर भेजो'SDM पर महिला हॉस्टल की अधीक्षीका ने लगाया 'गंदी डिमांड का आरोप; अधिकारी ने दी सफाई

यूपी कैबिनेट की बैठक में जौनपुर की इस नगर पालिका के विस्तार का प्रस्ताव स्वीकृत

जफराबाद विधायक का खतरे से बाहर डाॅ गणेश सेठ का सफल प्रयास, लगा पेस मेकर