स्वास्थ्य विभाग के महानिदेशक का आदेश प्रतिदिन पांच अस्पतालो का सीएमओ करें निरीक्षण


प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाने के लिए सभी मुख्य चिकित्सा अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए गए हैं। मुख्य चिकित्सा अधिकारी हर दिन चार से पांच अस्पताल का निरीक्षण करेंगे। उसी दिन शाम तक निरीक्षण संबंधी रिपोर्ट महानिदेशालय को भेजेंगे। इस संबंध में महानिदेशक डॉक्टर लिली सिंह ने निर्देश दिया है।
सभी मुख्य चिकित्सा अधिकारियों को भेजे निर्देश में कहा है कि अस्पतालों में आधारभूत सुविधाओं के साथ मरीजों की देखरेख और दवाओं की व्यवस्था मुकम्मल होनी चाहिए। हर अस्पताल की मॉनिटरिंग की जाए। इसके लिए सभी मुख्य चिकित्सा अधिकारी हर दिन कम से कम चार से पांच अस्पताल का निरीक्षण करें। निरीक्षण के दौरान अस्पताल में डॉक्टरों व दवाओं का नाम दर्ज है अथवा नहीं इस पर रिपोर्ट बनाएं। 
इसी तरह भर्ती मरीजों से बातचीत कर फीडबैक लेने, दवाओं की व्यवस्था देखने, पेयजल सफाई व्यवस्था देखने, स्ट्रेचर व व्हीलचेयर की व्यवस्था आदि पर अनिवार्य रूप से रिपोर्ट बनानी होगी। रिपोर्ट में निरीक्षण के दौरान पाई गई कमियां भी बतानी होगी।। अगले राउंड के निरीक्षण के दौरान यह भी देखना होगा कि पहले निरीक्षण में पाई गई कमियां कितनी दूर हो पाई और कितनी रह गई हैं। जिन कमियों को दूर नहीं किया जा सका उनकी वजह भी बतानी होगी ।
उपमुख्यमंत्री बृजेश पाठक ने पिछले दिनों कई अस्पतालों का निरीक्षण किया था। इस दौरान आधारभूत सुविधाओं का अभाव मिला था। इसे लेकर उपमुख्यमंत्री ने नाराजगी जताई थी। 2 दिन पहले हुई समीक्षा बैठक में भी उन्होंने चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को व्यवस्था सुधारने की हिदायत दी थी। उन्होंने सख्त चेतावनी दी थी कि यदि अस्पतालों में व्यवस्थाएं दुरुस्त नहीं हुई तो जिम्मेदार अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जानिए मुर्गा काटने के दुकान से कैसे मिला गुड्डू की लाश,पुलिस कर रही है जांच

बिजली विभाग बड़े बकायेदारो से बिल की वसूली कराये - डीएम जौनपुर

मंत्री गिरीश चन्द यादव का अखिलेश यादव पर जबरदस्त पलटवार,दे दिया केन्द्रीय मंत्री बनाने का आफर