आवासीय विद्यालय की कहांनी: छात्राओ से पैर दबवाती है शिक्षिका, बाथरूम कराती है साफ, शिकायत पर जांच शुरू


यूपी के सोनभद्र जिले के एक आवासीय बालिका विद्यालय की शिक्षिकाओं पर कुछ छात्राओं ने प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि दो शिक्षिका रात में उनसे पैर दबवाती हैं और पैर न दबाने पर डराती धमकाती हैं। जबरन बाथरूम साफ करवाया जाता है। नाश्ता व भोजन भी समय के अनुसार नहीं मिलता। मामला सामने आने के बाद जिले के शिक्षा विभाग में हड़कंप मच गया। बीएसए ने जांच के आदेश दिए हैं। शनिवार को पड़ताल के लिए पुलिस भी स्कूल पहुंची। आरोपी शिक्षिकाओं पर मुकदमा दर्ज हो सकता है।
ये पूरा मामला नगवां ब्लाक के कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय का है। नंदना गांव में संचालित विद्यालय में कक्षा छह से आठवीं कक्षा तक की छात्राओं के रहने, खाने-पीने एवं पढ़ाई करने की सुविधा है। कक्षा-11 की छात्राओं ने बीते मंगलवार को ब्लॉक कार्यालय पहुंचकर दो शिक्षिकाओं पर प्रताड़ित करने का आरोप लगाया था।
कहा कि दोनों शिक्षिका रात में उनसे पैर दबवाती हैं और पैर न दबाने पर डराती धमकाती हैं। जबरन बाथरूम साफ करवाया जाता है। नाश्ता व भोजन भी समय से नहीं दिया जाता है शिकायत को गंभीरता से लेते हुए बुधवार को ब्लॉक प्रमुख आलोक सिंह और खंड विकास अधिकारी राकेश सिंह ने विद्यालय का निरीक्षण किया।
निरीक्षण के दौरान सिर्फ 48 छात्राएं मिली। छात्राओं ने बताया कि विषयवार कभी भी पढ़ाई नहीं होती। स्कूल की बाउंड्री भी टूटी हुई है, जहां से आने जाने का दूसरा रास्ता भी बना हुआ है। जो सुरक्षा की दृष्टि से सही नहीं हैं।

ब्लॉक प्रमुख आलोक सिंह ने बताया कि विद्यालय में काफी खामी मिली हैं।  बीएसए हरिवंश कुमार ने कहा कि कस्तूरबा गांधी आवासी बालिका विद्यालय नंदना मामले की जांच करने के लिए कमेटी गठित कर दी गई है। जांच आख्या के आधार पर कार्रवाई की जाएगी

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पुलिस मुठभेड़ में मारे गए बदमाशो का शव उनके पिता ने लेने से किया इनकार जानें कारण

गुरूजी को अपनी छात्रा से लगा प्रेम रोग तो अब पहुंच गए सलाखों के पीछे,थाने में हुआ एफआइआर दर्ज

पुलिस मुठभेड़ में दो सगे भाई बदमाश मारे गये एक फरार जिसकी तलाश जारी है