जिन्दा व्यक्ति को मृतक बता कर सरकारी अभिलेख में उसकी जमीन किया अपने नाम डीएम ने करायी जांच अब एफआइआर


जमीन के लिए व्यक्ति कितना गिर सकता है इसका जीता जागता यह घटना उदाहरण है। जी हां जनपद मिर्जापुर में जिंदा व्यक्ति काे मृतक दिखाकर अभिलेखों में गलत ढंग से नाम चढ़ाने के मामले को जिलाधिकारी दिव्या मित्तल ने गंभीरता से लिया  और उन्होंने उप जिलाधिकारी सदर चंद्रभान सिंह को जांचकर आख्या उपलब्ध कराने का निर्देश दिया और शिकायत सही मिलने पर दोषियों के विरुद्ध एफआइआर दर्ज कराने को कहा। उप जिलाधिकारी की जांच में मामला सही पाया गया कि जिंदा काे मृतक दिखाकर अभिलेखों में गलत तरीके से नाम दर्ज कराया गया है। डीएम ने आश्वासन दिया कि किसी भी पीड़ित के साथ अन्याय नहीं होगा।
मिर्जापुर के पड़री थाना क्षेत्र के ग्राम कनौरा निवासी मुरली साहनी पुत्र स्व. राम आधार ने डीएम को प्रार्थना पत्र देकर बताया कि उसके नाना स्व. उदय चंद निवासी ग्राम कनौरा, तहसील सदर ने अपने जीवन काल में एक किता रजिस्टर्ड वसीयतनामा दिनांक 19-6-1996 को उनकी माता कबूतरी देवी के पक्ष में किया था।
माता कबूतरी देवी की मृत्यु के बाद उसके दोनों भाई राजेंद्र प्रसाद व कन्हैया लाल ने माता के वसीयतनामा के आधार पर तहसीलदार सदर, न्यायिक के न्यायालय में वाद योजित किया, जिसमें मुरली साहनी को मृतक दिखा कर गलत ढंग से अपना नाम राजस्व अभिलेखों में दर्ज करा लिया गया।
वहीं मुरली डीएम के सामने खड़े होकर गुहार लगाता रहा कि वह जिंदा है और आपके सामने खड़ा है। इस प्रकरण को जिलाधिकारी ने गंभीरता से लिया और उप जिलाधिकारी सदर को जांचकर आख्या उपलब्ध कराने काे कहा। उप जिलाधिकारी की जांच में शिकायतकर्ता की बात सही मिली। इस पर डीएम ने दोषियों के विरूद्ध एफआइआर दर्ज कर नियमानुसार कार्रवाई करने का निर्देश दिया।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पुलिस मुठभेड़ में मारे गए बदमाशो का शव उनके पिता ने लेने से किया इनकार जानें कारण

गुरूजी को अपनी छात्रा से लगा प्रेम रोग तो अब पहुंच गए सलाखों के पीछे,थाने में हुआ एफआइआर दर्ज

पुलिस मुठभेड़ में दो सगे भाई बदमाश मारे गये एक फरार जिसकी तलाश जारी है