वर्षांत के कारण जर्जर दुकानो का बारजा गिरा,जन हांनि नहीं

जौनपुर। जनपद में वर्षांत का असर अब जर्जर मकानो और दुकानो पर दिखने लगा है लेकिन जिला प्रशासन ऐसे जर्जर भवनो को लेकर बेखबर है। प्रशासन की अनदेखी के कारण वर्षांत के समय कभी भी बड़ी और हृदय विदारक दुर्घटना की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता है।
शनिवार को दोपहर में अचानक सिविल लाइन मार्ग पर स्थित संजय श्रीवास्तव की छह दुकानो में तीन दुकानो का बारजा भरभरा कर गिर गया संयोग ही था कि नीचे कोई ग्राहक नहीं था अन्यथा भीषण घटना हो सकती थी। 
यहां बता दे कि दुकान मालिक और किरायेदार के बीच किरायेदारी के मसले को लेकर दीवानी न्यायालय में मुकदमा विचाराधीन है। जिसके कारण लगभग 50 साल पूरे होने के बाद भी दुकान की मरम्मत अथवा नया निर्माण नहीं हो सका है।जिसके कारण दुकने जर्जर अवस्था में पहुंच गयी है।ऐसा माना जा रहा है कि प्रशासन यदि इसको संज्ञान में लेकर तत्काल ध्वस्तीकरण न कराया तो किसी भी बड़ी घटना के लिए जिम्मेदार माना जायेगा।

Comments

Popular posts from this blog

स्वामी प्रसाद मौर्य के कार्यालय में तोड़फोड़ गोली भी चलने की खबर, पुलिस जांच पड़ताल में जुटी

सड़क चौड़ीकरण के लिए जानिए कौन कौन से मन्दिर टूटने के कगार पर ,क्या है लोक निर्माण विभाग की योजना

लोकसभा चुनाव के लिए सायंकाल पांच बजे तक मतदान का प्रतिशत यह रहा