रीठी हत्याकांड के मुख्य अभियुक्त पुलिस पकड़ से है दूर तो घर की महिला को बना दिया अभियुक्त भेजा जेल

जौनपुर। थाना सिकरारा क्षेत्र स्थित ग्राम रीठी में विगत 16 अप्रैल की सायंकाल साढ़े सात बजे अनीस पुत्र नफीस की हत्याकांड के नामजद अभियुक्त मुस्तकीम,अतीक उर्फ पान्डू,अनिकेत मिश्रा, और प्रिन्स हरिजन को सिकरारा की पुलिस भले नहीं गिरफ्तार कर सकी लेकिन अपनी तेजी मुस्तकीम की पत्नी पर जरूर दिखाया और गिरफ्तार कर उसे हत्याकांड का अभियुक्त करार देकर जेल की सीखचों के पीछे कैद कर दिया है।
इस संदर्भ में अपर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण शैलेंद्र सिंह ने अपने बयान में स्पष्ट रूप से कहा कि 16 अप्रैल की सायंकाल थाना सिकरारा क्षेत्र स्थित ग्राम रीठी में अनीस हत्याकांड के चार अभियुक्त मुस्तकीम, अतीक उर्फ पान्डू, अनिकेत मिश्रा और प्रिन्स है जो अभी फरार है। मुस्तकीम की पत्नी शासिदा बानो को गिरफ्तार कर विधिक कार्यवाई करते हुए जेल भेजा गया है।
यहां बता दें कि घटना के बाद थाने के अभिलेख में दर्ज मुअसं 90/24 धरा 302, 34, 504, 506 भादवि में शाहिदा नामजद अभियुक्त नहीं है और नहीं तहरीर में उसका तस्किरा है। हां मुस्तकीम की पत्नी और अतीक की मां है इसलिए पुलिस इलाका ने शाहिदा को ही गिरफ्तार कर अभियुक्त करार दे दिया और अपनी पीठ खुद से थपथपा ली है।

घटना पांच दिन बीत गए असली हत्यारों के गिरेबान तक सिकरारा थाने के तेज तर्रार थानेदार का हाथ नहीं पहुंच सका है। महिला की इस गिरफ्तारी को लेकर पुलिस चाहे जितना पीठ थपथपाए लेकिन मृतक के परिजन असली हत्यारो की गिरफ्तारी की बात कर रहे है। पुलिस की कहांनी के मुताबिक शाहिदा को ग्राम बिसवां स्थित बरिया की पाही से मुखबिर की सूचना पर दविस देकर गिरफ्तार किया है। अब सवाल यह खड़ा होता है कि घटना के दिन से जिस असली हत्यारे का नाम जन चर्चा में आया और तहरीर के आधार पर एफआईआर में भी है उसकी गिरफ्तारी पुलिस के जाबांज थानेदार कब तक कर सकेंगे ?

Comments

Popular posts from this blog

जौनपुर में चुनावी तापमान बढ़ाने आ रहे है सपा भाजपा और बसपा के ये नेतागण, जाने सभी का कार्यक्रम

अटाला मस्जिद का मुद्दा भी अब पहुंचा न्यायालय की चौखट पर,अटाला माता का मन्दिर बताते हुए परिवाद हुआ दाखिल

मछलीशहर (सु) लोकसभा में सवर्ण मतदाताओ की नाराजगी भाजपा के लिए बनी बड़ी समस्या,क्या होगा परिणाम?