लाक डाऊन के चलते मृतक के त्रयोदशा का दायित्व बेटी एवं उसके परिजनो ने निभाया, बेटे फंसे विदेश



    जौनपुर। कोरोना संक्रमण के चलते देश में लाक डाऊन लागू होने का  असर है कि लोग अपने परिजनों की मृत्युपरान्त मृत आत्मा की शांति के लिए कोई भी ऐसा कार्यक्रम नहीं कर पा रहे हैं जहां पर शोसल डिस्टेन्सिंग का उल्लंघन सम्भावित हो ऐसा एक मामला चर्चा ए खास है कि मृतक के पुत्र बाहर विदेश में लाक डाऊन के चलते फंसे होने के कारण मृतक की पुत्री एवं दामाद तथा उसके परिजन को मृत आत्मा की शांति के लिए त्रयोदशा कार्यक्रम करना पड़ा है।


जी हाँ हम बात कर रहे हैं जनपद जौनपुर के तहसील शाहगंज के स्व.शिव पूजन मिश्रा के त्रयोदशा कार्यक्रम की, यहाँ बतादे कि लाक डाऊन अवधि में शिव पूजन मिश्रा अपने उपचार के लिए राजस्थान बांसवाडा गये थे वहीं पर हृदयगति रूकने से उनका  निधन हो गया वही पर नाती ने उनका दाह-संस्कार किया। इनके दो पुत्र दोनों बाहर विदेश में सेवारत है ।दाह संस्कार के बाद मृतक की पुत्री जो जौनपुर के वरिष्ठ पत्रकार पंडित चन्द्रेश मिश्रा की बहु है और हरिहर सिंह पब्लिक स्कूल के क्लब शाखा के प्रभारी प्रिंसिपल श्रीमती गीता मिश्रा एवं इनके परिजनों  ने  स्वर्गीय शिव पूजन मिश्रा के त्रयोदशा कार्यक्रम  के अवसर पर शाहगंज एवं जौनपुर में गरीबों को  लंच पैकेट वितरित कर त्रयोदशा का कार्यक्रम पूरा किया। इस अवसर पर मृतक के घर शाहगंज एवं जौनपुर मुख्यालय पर  250 पैकेट खाद्य सामग्री वितरित करायी गयी । 

इस अवसर शाहगंज में आयोजित शोक सभा में शाहगंज के प्रमुख नागरिकों ने उनके निधन पर श्रद्धांजलि अर्पित की जिनमें नगर पालिका शाहगंज की चेयरमैन श्रीमती गीता जयसवाल डॉक्टर अजय त्रिपाठी ,पूर्व प्रधानाचार्य गोपा बनर्जी डॉक्टर राज कुमार आदि प्रबुद्ध लोग सम्मिलित हुए। इसी क्रम में जनपद मुख्यालय पर भी शोक सभा की गयी और लंच पैकेट वितरित किया गया। मुख्यालय पर मृतक स्व. मिश्रा  के समधी एवं बरिष्ट पत्रकार पं. चन्द्रेश मिश्रा की अध्यक्षता में शोकसभा की गयी जिसमें रामकृष्ण त्रिपाठी एडवोकेट ,सहकारी डिग्री कॉलेज के प्रबंधक  राजीव कुमार सिंह, रामदयाल दिवेदी आदि  सम्मिलित प्रबुद्ध जनो ने मृत आत्मा को शांति प्रदान करने के लिए ईश्वर से प्रार्थना किया । सभी आगत जनो के प्रति आभार गीता मिश्रा के पति अशोक मिश्रा एवं  देवर आलोक मिश्रा ने संयुक्त रूप व्यक्त किया है। 

Comments

Popular posts from this blog

पुलिस प्रशासन और दीवानी न्यायालय के न्यायिक अधिकारियों के बीच छिड़ी जंग, न्यायाधीश हुए सुरक्षा विहीन

मछलीशहर (सु) संसदीय क्षेत्र से सांसद बनने के लिए दावेदारो की जाने क्या है स्थित, कौन होगा पार्टी के लिए फायदेमंद